ब्लॉगरों की तालिबानी संसद!

Posted On by & filed under चुनाव

-डॉ. पुरुषोत्तम मीणा ‘निरंकुश’ हम सभी जानते हैं कि आजकल प्रिण्ट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया धनकुबेरों के इशारों पर कथ्थक करता रहता है। मीडिया द्वारा केवल उन्हीं मुद्दों को उठाया जाता है, जिससे उनकी पाठक/दर्शक संख्या में इजाफा हो। मीडिया को सामाजिक सरोकार को सर्वोच्च प्राथमिकता देनी चाहिये, लेकिन दुर्भाग्य से ऐसा नहीं हो पा रहा… Read more »

भटकें नहीं ब्लागर

Posted On by & filed under टेक्नोलॉजी

-डा. सुभाष राय ब्लॉगों की दुनिया धीरे-धीरे बड़ी हो रही है. अभिव्यक्ति के अन्य माध्यमों के प्रति जन्मते अविश्वास के बीच यह बहुत ही महत्वपूर्ण घटना है. कोई भी आदमी अपनी बात बिना रोक-टोक के कह पाए, तो यह परम स्वतंत्रता की स्थिति है. परम स्वतंत्र न सिर पर कोऊ. यह स्वाधीनता बहुत रचनात्मक भी… Read more »

संचार क्रांति का मानवाधिकार कार्यकर्ता है ‘ट्विटर’ और ‘ब्लॉगर’

Posted On by & filed under विविधा

भारत में ‘ट्विटर’ को अभी भी बहुत सारे ज्ञानी सही राजनीतिक अर्थ में समझ नहीं पाए हैं, खासकर मीडिया से जुड़े लोग भारत के विदेश राज्यमंत्री शशि थरुर के ‘ट्विटर’ संवादों पर जिस तरह की बेवकूफियां करते हैं उसे देखकर यही कहने की इच्छा होती है कि हे परमात्मा इन्हें माफ करना ये नहीं जानते… Read more »

विश्व के श्रेष्ठतम ब्लॉगर की चुनौती बोलो चीनी शासको बोलो

Posted On by & filed under विश्ववार्ता

हाल ही में चीन में पोर्न सामग्री के नेट द्वारा प्रचार-प्रसार पर पाबंदी लगा दी है इस पर विश्व के श्रेष्ठतम ब्लॉगर हन हन ने लिखा कि मैं सरकार की औरतों को सताने वालों के खिलाफ जो नीति रही है मैं उसका समर्थक हूँ। लेकिन पोर्न को लेकर चीनी प्रशासन का जो रवैय्या है वह… Read more »

30 करोड़ हिट वाले ब्लॉगर ने चीन के शासकों की नींद उड़ा रखी है

Posted On by & filed under विश्ववार्ता

हन हन के ब्लॉग पर इस समय घमासान मचा है। इस नौजवान ने अपने विचारों की गरमी से चीन के शासकों की नींद उड़ा दी है। हन हन को चीन में सबसे ज्यादा पढ़ा जा रहा है। सारी कम्युनिस्ट पार्टी और उसका साइबरतंत्र त्रस्त है और किसी भी तरह हन के ब्लॉग पर जाने वालों… Read more »