दीनदयाल जयंती पर विशेष- संस्कृतिनिष्ठा

Posted On by & filed under राजनीति

प. दीनदयाल उपाध्याय जी जनसंघ के विचारदाता थे। देश में समतामूलक समाज बनाने में प्रयासरत् पंड़ित जी ने भारतवर्ष में, धर्मराज्य जो एक असाम्प्रदायिक राज्य, उच्च विचार में एक विधान का राज्य की स्थापना की कामना की थी। उनके अनुसार धर्मराज्य अधिकार की अपेक्षा कर्तव्य पर बल देने वाला राज्य है। पंडितजी के अनुसार मनुष्य… Read more »

पं. दीनदयाल उपाध्‍याय जयंती पर विशेष- एक कर्मयोगी की जीवन यात्रा

Posted On by & filed under राजनीति

बाल्यकाल दीनदयाल उपाध्‍याय का बचपन एक सामान्य उत्तर भारतीय निम्न मध्‍यमवर्गीय सनातनी हिंदू परिवार के वातावरण में बीता। ब्रजभूमि के मथुरा जिले के नंगला चन्द्रभान ग्राम में दीनदयाल उपाध्‍याय के प्रपितामह विख्यात ज्योतिषी पं. हरिराम उपाध्‍याय रहा करते थे। श्री झण्डूराम इनके सहोदर लघु भ्राता थे। पं. हरिराम उपाध्‍याय के तीन पुत्र थे-भूदेव, रामप्रसाद तथा… Read more »