Rishi Dayanand preached the Vedas with the spirit of world welfare.

ऋषि दयानन्द ने विश्व कल्याण की भावना से वेदों का प्रचार किया

–मनमोहन कुमार आर्य                 ऋषि दयानन्द ने आर्यसमाज की स्थापना किसी नवीन मत–मतान्तर के प्रचार…