कर्नाटक का नाटक खत्म नहीं हुआ,अभी और देखना बाकी है 

1
191

कर्नाटक का नाटक खत्म नहीं हुआ,अभी और देखना बाकी है
अभी तो ट्रेलर देखा है तुमने,पूरी फिल्म अभी देखना बाकी है

येदुरप्पा ने अभी शपथ ली है,औरो को शपथ दिलाना बाकी है
येदुरप्पा को अभी सदन में,अपना बहुमत सिद्ध करना बाकी है

राजनीति में जोड़-तोड़ की हवा चली है,खरीद-फरोख्त बाकी है
कुछ एम एल ऐ शहर से अभी गायब है,अब उन्हें ढूँढना बाकी है

अभी 104 MLA तुम्हारे पास है,आठ एम एल ऐ ढूढना बाकी है
112 M.L.A की फ़ौज जूटाना अभी सदन में पेश करना बाकी है

आर के रस्तोगी 

Previous articleबचपन को लीलता होमवर्क का बोझ
Next articleकर्नाटक का जनमत किसके पक्ष में है?
आर के रस्तोगी
जन्म हिंडन नदी के किनारे बसे ग्राम सुराना जो कि गाज़ियाबाद जिले में है एक वैश्य परिवार में हुआ | इनकी शुरू की शिक्षा तीसरी कक्षा तक गोंव में हुई | बाद में डैकेती पड़ने के कारण इनका सारा परिवार मेरठ में आ गया वही पर इनकी शिक्षा पूरी हुई |प्रारम्भ से ही श्री रस्तोगी जी पढने लिखने में काफी होशियार ओर होनहार छात्र रहे और काव्य रचना करते रहे |आप डबल पोस्ट ग्रेजुएट (अर्थशास्त्र व कामर्स) में है तथा सी ए आई आई बी भी है जो बैंकिंग क्षेत्र में सबसे उच्चतम डिग्री है | हिंदी में विशेष रूचि रखते है ओर पिछले तीस वर्षो से लिख रहे है | ये व्यंगात्मक शैली में देश की परीस्थितियो पर कभी भी लिखने से नहीं चूकते | ये लन्दन भी रहे और वहाँ पर भी बैंको से सम्बंधित लेख लिखते रहे थे| आप भारतीय स्टेट बैंक से मुख्य प्रबन्धक पद से रिटायर हुए है | बैंक में भी हाउस मैगजीन के सम्पादक रहे और बैंक की बुक ऑफ़ इंस्ट्रक्शन का हिंदी में अनुवाद किया जो एक कठिन कार्य था| संपर्क : 9971006425

1 COMMENT

  1. 104 सीट वाले को मुख्यमंत्री नही बनने दिया और 34 वाले बन गए, यही देखना था , सो देख लिए. अब खुश हो आप.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here