लेखक परिचय

प्रवक्‍ता ब्यूरो

प्रवक्‍ता ब्यूरो

Posted On by &filed under राजनीति.


छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में फिर भीषण नक्‍सली हमला। नक्‍सलियों ने एक बस को बम से उडाकर पचास निर्दोष लोगों को मौत के घाट उतार दिया। इसमें ज़्यादातर स्थानीय लोग ही सवार थे। यह विस्फोट सुकमा राजमार्ग पर हुआ है। सुकमा दंतेवाड़ा से महज 35 किलोमीटर दूर है, जबकि जिस जगह यह घटना घटी है वहां से तीन किलोमीटर दूर ही सीआरपीफ की चौकी है। बस में विशेष पुलिस के 25 जवान शामिल थे। ये वे नक्सली हैं जो सरेंडर कर चुके हैं और अब पुलिस इनकी मदद से नक्सलियों से लोहा ले रही है। हमले के बाद सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है।

विदित हो कि इससे पहले दंतेवाड़ा में ही नक्सलियों ने सीआरपीएफ के 76 जवानों को बर्बर तरीके से घेर कर मार डाला था।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (नक्सल) रामनिवास ने बताया कि जिले गांदीरास थानांतर्गत चिंगावरम गांव के करीब नक्सलियों ने बस को उड़ा दिया। उन्होंने बताया कि बस दंतेवाड़ा से सुकमा जा रही थी और जैसे ही चिंगावरम के पास पहुंची तभी नक्सलियों ने बारूदी सुरंग विस्फोट कर दिया। घायलों को गांदीरास लाया जा रहा है और घटनास्थल की ओर पुलिस बल को रवाना किया गया है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक ने बताया कि यह पहला मौका है जब किसी बस को निशाना बनाया गया है।

नक्सली आतंकवाद की भयानक तस्वीर:

• 2009 के आंकड़ों के अनुसार नक्सलवाद देश के 20 राज्यों की 220 जिलों में फैल चुका हैं।

• पिछले तीन साल (2007-08 तथा 2009) में देश में नक्सली हिंसा के कारण 1405 लोग मारे गए जबकि 754 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए।

• भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ के मुताबिक देश में 20,000 नक्सली काम कर रहे हैं।

• लगभग 10,000 सशस्त्र नक्सली कैडर बुरी तरह प्रेरित और प्रशिक्षित हैं।

• आज देश में 56 नक्सल गुट मौजूद हैं।

• करीब 40 हजार वर्ग किलोमीटर इलाका नक्सलियों के कब्जे में हैं।

• नक्सली करीब 1400 करोड़ रुपए हर साल रंगदारी के जरिए वसूलते हैं।

• नक्सली भारतीय राज्य को सशस्त्र विद्रोह के जरिए वर्ष 2050 तक उखाड़ फेंकना चाहते हैं।

One Response to “फिर 50 निर्दोष लोगों के लाशों के ढेर लगा दिए नक्‍सलियों ने”

  1. प्रवक्‍ता ब्यूरो

    प्रवक्‍ता ब्यूरो

    really its true it’s misfortune of out country but whom now some people are killing each others,, ok , the person who killed dont know why he killed and the person who died dont know why he died. No solution we are seeing. Election time Congress Gov. using the naxal and won the election. Now its fruit of Congress and people r suffering.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *