लेखक परिचय

प्रवक्‍ता ब्यूरो

प्रवक्‍ता ब्यूरो

Posted On by &filed under प्रवक्ता न्यूज़, मीडिया.


भोपाल,5 अक्टूबर। युवा पत्रकार एवं लेखक संजय द्विवेदी को उनकी नई किताब ‘मीडिया नया दौर नई चुनौतियां ’ के लिए इस वर्ष का वाड्.मय पुरस्कार दिए जाने की घोषणा की गयी है। स्व. हजारीलाल जैन की स्मृति में प्रतिवर्ष किसी गैर साहित्यिक विधा पर लिखी गयी किताब पर यह सम्मान दिया जाता है। मध्य प्रदेश राष्ट्रभाषा प्रचार समिति द्वारा संचालित इस सम्मान समारोह का आयोजन आगामी 10 अक्टूबर,2010 में 11 बजे भोपाल स्थित हिंदी भवन में किया गया है। समारोह के मुख्यअतिथि मप्र के राज्यपाल श्री रामेश्वर ठाकुर होंगे तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रदेश के नगरीय विकास मंत्री श्री बाबूलाल गौर करेंगें। विशिष्ट अतिथि के रूप में सांसद श्री रधुनंदन शर्मा मौजूद होंगें। श्री द्विवेदी अनेक प्रमुख समाचार पत्रों में महत्वपूर्ण पदों पर काम कर चुके हैं और संप्रति वे माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल में जनसंचार विभाग के अध्यक्ष हैं। संजय की यह किताब यश पब्लिकेशन, दिल्ली ने छापी है और इसमें मीडिया के विविध संदर्भों पर लिखे उनके लेख संकलित हैं।

16 Responses to “पत्रकार संजय द्विवेदी को वाड्.मय पुरस्कार”

  1. Abhishek Rajan

    इसमें कोई दो राय नहीं की वाकई यह किताब अच्छी होगी. और इसके लिए बधाई.
    परन्तु इस दो राय तो जरुर है की यह पुरस्कार आपको संघ की सेवा के लिए दिया जा रहा है.

    माफ़ करें. सीधा और सच लिखना हमने वहीँ से सीखा है जहाँ आप अब अपने पांव पसार रहे हैं. ध्यान रखे चादर कपड़े की ही हैं रबर की नहीं.

    Reply
  2. संजय द्विवेदी

    sanjay dwivedi

    आप सबकी शुभकामनाओं के लिए बहुत-बहुत आभार। इतना प्यार, ज्यादा जिम्मेदार बनाता है। अपेक्षाएं बढ़ाता है, मैं और बेहतर करने के लिए खुद को तैयार करूंगा।फिर भी मैं मानता हूं कि मेरा अच्छा लिखा जाना अभी शेष है। -संजय द्विवेदी

    Reply
  3. Shivasheesh Mishra

    very very congratulation sir!!!
    hope this book will prove mile stone in new era of JOURNALISM
    I have one copy of it (because of my brother), and extracting time to read it out
    i hope we will get more to read from you……..:)

    Reply
  4. श्रीराम तिवारी

    shriram tiwari

    आयुष्मान भव.राष्ट्रनिष्ठ भव सर्बहारा के हितरक्षक भव .महाभ्रुष्ट व्यवस्था के कठिन कुठार भव .बधाई …

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *