महाशिवरात्रि 2018 पर बन रहा हैं बेहद शुभ योग … 

Posted On by & filed under प्रवक्ता न्यूज़

इस महाशिवरात्रि पर कालसर्प दोष की पूजा से कई जन्‍मों तक मिलेगा फल प्रिय पाठकों/मित्रों, हिंदु धर्म मॆ समस्त पर्व ग्रहों, तिथि, ऋतु तथा शुभ योगों के अनुसार मनाये जाते है जिससे मानव कॊ आधिदैविक, आधिभौतिक तथा आध्यात्मिक स्तर पर विशेष लाभ होता है। जैसे रामनवमी तथा दशहरा दोनो ऋतु के संधिकाल मॆ मनाये जाते… Read more »

जानिए वैवाहिक जीवन में तनाव के कारण

Posted On by & filed under प्रवक्ता न्यूज़

विवाह हमारे पारम्परिक सोलह संस्कारों में से एक है, जीवन के एक पड़ाव को पार करके किशोरावस्था से युवास्था में प्रवेश करने के बाद व्यक्ति को जीवन यापन और सामाजिक ढांचे में ढलने के लिए एक अच्छे जीवन साथी की आवश्यकता होती है और जीवन की पूर्णता के लिए यह आवश्यक भी है परन्तु हमारे… Read more »

एक वरदान है पुस्तक मेला

Posted On by & filed under प्रवक्ता न्यूज़

-डॉ.सौरभ मालवीय देश की राजधानी दिल्ली के प्रगति मैदान में 6 जनवरी से 14 जनवरी तक विश्व पुस्तक मेला आयोजित किया जा रहा है। मेले का उद्घाटन मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडे़कर करेंगे। वर्ष 1972 में प्रथम विश्व पुस्तक मेले का आयोजन किया गया था। उस समय इसमें  200 प्रतिभागी सम्मिलित हुए थे। इसके बाद तो निरंतर पुस्तक मेले लगने लगे… Read more »

सोलो आर्ट एक्सबिशन “आई लाइव इन  माई स्पेस” 

Posted On by & filed under प्रवक्ता न्यूज़

(चित्रकार कलाकार बबली दास, त्रिपुरा, भारत के पूर्वोत्तर के भाग से हैं) नई दिल्ली में लोकायत आर्ट गैलरी वर्तमान में चित्रकार कलाकार बबली दास की एकमात्र कला प्रदर्शनी, “आई लाइव इन  माई स्पेस” की मेजबानी कर रही है। 18 नवंबर, 2017 को लोकायत आर्ट गैलरी, नई दिल्ली के हौज खास के लोकायत आर्ट गैलरी में… Read more »

नोबेल विजेता श्री कैलाश सत्‍यार्थी ने गुड टच, बैड टच और “नहीं” कहने की कक्षा ली

Posted On by & filed under प्रवक्ता न्यूज़

बच्‍चों की सुरक्षा के सवाल पर दुनिया की सबसे बड़ी कक्षा गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकार्ड में शामिल दिनांक 12 अक्‍टूबर 2017 को नोबेल शांति पुरस्‍कार विजेता श्री कैलाश सत्‍यार्थी ने जयपुर में बच्‍चों की सुरक्षा के सवाल पर दुनिया की सबसे बड़ी “सत्‍यार्थी कक्षा” ली, जो गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍डरिकार्ड में दर्ज किया गया। इसमें जयश्री पेरिवाल इंटरनेशनल स्‍कूल में यह कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें 344 छात्रों की सहभागिता रही। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकार्ड के श्री स्विपनल डेंगारिकर ने इस बारे मे जानकारी देते हुए बताया कि इस कार्यक्रम का हिस्‍सा बनते हुए मुझे खुशी हो रही है। कैलाश सत्‍यार्थी चिल्‍ड्रेन्‍स फाउंडेशन नेजिस उद्देश्य से इस भारत यात्रा का आयोजन किया वह आज की दुनिया के लिए बहुत ही महत्‍वपूर्ण है। मुझे यह भी बताने में खुशी हो रही है कि बाल यौन शोषण के खिलाफ सुरक्षा के सवाल पर आजदुनिया की सबसे बड़ी कक्षा ली गई और इसमें 344 छात्रों ने भाग लिया। हम इसके लिए नोबेल विजेता श्री कैलाश सत्‍याथीं और उनके केएससीएफ को इसके लिए बधाई देते हैं। 11 अक्‍टूबर 2017 का दिन बच्‍चों की सुरक्षा के सवाल पर सबसे ऐतिहासिक दिन था। इस दिन श्री कैलाश सत्‍यार्थी ने एक कक्षा ली, जिसमें उन्‍होंने बाल यौन शोषण के खिलाफ जयपुर के डीएवीसेंटेनरी पब्लिक स्‍कूल में 15000 बच्‍चों को बाल यौन शोषण से बचने के उपायों को बताया। नोबेल विजेता की बाल यौन शोषण के खिलाफ ली गई इस कक्षा से एक ओर जहां 15,000 बच्‍चों को सीधे-सीधे लाभ हुआ है, वहीं दूसरी ओर देश के लगभग चार करोड़ से अधिक बच्‍चे भी इस कक्षा से परोक्ष तरीके से लाभान्वित हुए हैं। बाल यौन शोषण के खिलाफ देश के छह अन्‍य राज्‍यों में भी यह कक्षाली गई। इस तरह की कक्षा देश के आंध्र प्रदेश, तमिलनाडू, केरल,तेलंगाना, असम और झारखंड के शिक्षकों ने ली। इसमें एनपीएस और आईपीएससी के 400 से अधिक स्‍कूलों के बच्‍चे शामिल हैं।इसके अतिरिक्‍त इस तरह की कक्षा 23 राज्‍यों के 693 डीएवी स्‍कूलों में भी ली गई। राजस्‍थान सरकार ने इस तरह की कक्षा का आयोजन राज्‍य के अधिकांश स्‍कूलों में भी आयोजित करवाया। यहपूरे देश में एक मॉडल के तौर पर उभरेगा, इसकी चारों ओर चर्चा शुरू हो गई है। श्री कैलाश सत्‍यार्थी ने कहा कि इस तरह की कक्षा से लगभग 4 करोड़ बच्‍चों का लाभान्वित होना एक बहुत बड़ी बात है। उन्‍होंने यह भी बताया कि जिस तरह से देश के लगभग 4 करोड़ बच्‍चों ने इसकक्षा से लाभ लिया उससे यह भी साबित होता है कि वे बाल यौन शोषण और बलात्‍कार के खिलाफ हमारी जंग में हमारे साथ है। भारत यात्रा को उन्‍होंने सड़ी-गली मान्‍यताओं पर एक हमला बताया। कन्‍याकुमारी के विवेकानंद शिला स्‍मारक से 11 सितंबर, 2017 को शुरू हुई भारत यात्रा अब तक 19 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से गुजरते हुए लगभग 9000 किलोमीटर की दूरी तय कर चुकी है।16 अक्टूबर को इसका समापन दिल्ली में राष्‍ट्रपति भवन में होगा, जहां भारत के माननीय राष्‍ट्रपति श्री रामनाथ कोबिंद और भारत को बच्‍चों के लिए सुरक्षित बनाने का स्‍वप्‍न देखने वाले नोबेल विजेताश्री कैलाश सत्‍यार्थी देश के अन्‍य गणमान्‍यों के साथ होंगे। इस यात्रा के जरिए 1 करोड़ लोगों से सीधे सम्पर्क का लक्ष्‍य रखा गया है।    

संसार का सबसे बड़ा आश्चर्य परमेश्वर व उसकी रचनायें हैः आचार्या प्रियम्वदा वेदभारती

Posted On by & filed under प्रवक्ता न्यूज़

  मनमोहन कुमार आर्य, देहरादून। वैदिक साधन आश्रम तपोवन, देहरादून का शरदुत्सव आज सोल्लास आरम्भ हो गया। साधको को प्रातः 5.00 बजे से 6.00 बजे तक योग साधना कराई गई। प्रातः 6.30 बजे सन्ध्या हुई और इसके बाद ऋग्वेद के मन्त्रों से यज्ञ आरम्भ हुआ। मंच पर यज्ञ की ब्रह्मा विदुषी आचार्य डा. प्रियम्वदा वेदभारती,… Read more »

2018 से होगा भव्य मंदिर का निर्माण प्रारम्भ

Posted On by & filed under प्रवक्ता न्यूज़

प्रेस विज्ञप्ति :राम जन्मभूमि आन्दोलन के कारण हुआ भारत का भगवा युग में प्रवेश, 2018 से होगा भव्य मंदिर का निर्माण प्रारम्भ : डा सुरेन्द्र जैन           नई दिल्ली। सितंबर 16, 2017. श्री राम जन्म भूमि आन्दोलन के कारण ही भारत ने भगवा युग में प्रवेश किया तथा आज यह विश्व की महा शक्ति बनाने की ओर… Read more »

स्त्री आर्यसमाज धामावाला देहरादून की पूर्व प्रधाना माता सुशीला सेठ जी की श्रद्धांजलि सभा श्रद्धापूर्ण वातावरण में सम्पन्न

Posted On by & filed under प्रवक्ता न्यूज़

  आज 14 सितम्बर 2017 को अपरान्ह 2 से 3 बजे तक आर्यसमाज धामावाला देहरादून में 87 वर्षीय माता सुशीला सेठ जी की श्रद्धांजलि सभा सम्पन्न हुई। तीन वर्ष की लम्बी बीमारी के बाद दिनांक 11 सितम्बर, 2017 को उनकी मृत्यु हो गई थी। श्रद्धांजलि सभा का आरम्भ आर्यसमाज के विद्वान पुरोहित पं. विद्यापति शास्त्री… Read more »

कुछ लफ्ज़ तेरे नाम …………

Posted On by & filed under प्रवक्ता न्यूज़

    मेरे उम्र के कुछ दिन , कभी तुम्हारे साडी में अटके तो कभी तुम्हारी चुनरी में …. कुछ राते इसी तरह से ; कभी तुम्हारे जिस्म में अटके तो कभी तुम्हारी साँसों में ….. मेरे ज़िन्दगी के लम्हे बेचारे बहुत छोटे थे. वो अक्सर तुम्हारे होंठो पर ही रुक जाते थे. फिर उन… Read more »

 अनूठे ऋषि भक्त एवं आर्यसमाज के एक मूक प्रचारक श्री राजेन्द्र आर्य, बरेली

Posted On by & filed under प्रवक्ता न्यूज़

मनमोहन कुमार आर्य आर्यसमाज एक संगठन है जो वैदिक धर्म और संस्कृति का विश्व में प्रचार व प्रसार करता है। प्रचार के मुख्य साधन ऋषि दयानन्द कृत सत्यार्थप्रकाश और उसके पूरक उनके व कुछ शीर्ष विद्वानों के ग्रन्थ हैं। इन ग्रन्थों के प्रकाशक, लेखक व इनके प्रचार में सहायक सभी बन्धु एक प्रकार से वैदिक… Read more »