प्रवक्ता न्यूज़

तुम सुर में बसी उनकी झलक!

तुम सुर में बसी उनकी झलक,  लख लिया करो; भाए न भाए उनकी ग़ज़ल,  गा लिया करो !  दरम्यान उनके औ तुम्हारे, दूरियाँ कहाँ; दरवाज़ा खोल बार बार, मिल लिया करो ! आँखों का नूर चित को चूर, करता रहा है; आहिस्ते बना रिश्ते खुद को,  खो दिया करो ! खोये वहीं हैं हर ही सबब, शब्द में सोये; चुपचाप उनकी चाप सुने,…

क्या हम वैदिक ग्रन्थों का स्वाध्याय और ईश्वर का ध्यान करते हैं?

मनमोहन कुमार आर्य                मनुष्य एक चेतन प्राणी है। चेतन प्राणी उसको कहते हैं कि…

गुरुकुल कांगड़ी के आचार्य रामदेव जी के जीवन के कुछ प्रमुख गुण”

–मनमोहन कुमार आर्य                आचार्य रामदेव जी गुरुकुल कागड़ी के संचालन में स्वामी श्रद्धानन्द जी…