तुझे भुलाने की कोशिश में…

-बीना रौतेला-

poetry-sm

तुझे भुलाने की कोशिश मे,

खुद को ही मैं भुल गयी।

दूर जाने की कोशिश मे,

पास तेरे मैं आ गयी॥

 

मिटाकर तेरी यादे जब,

दूर हो जाने लगी।

कदम बढ़ाया था जो मैंने,

खुद पीछे हो जाने लगी॥

 

तुझे भुलाने की कोशिश मे,

खुद को ही मैं भुल गयी।

 

तेरी यादों के साये मे,

शाम यूं कट जाने लगी।

तेरे मेरे बीच की दूरी,

खुद ही सिमट जाने लगी।

 

खेल खेला था जो उसने,

उसमे मैं कुछ ऐसी उलझी

धुप-छाव का खेल,

खुद मेरी परछायी करने लगी।

 

तुझे भुलाने की कोशिश मे,

खुद को ही मैं भुल गयी।

दूर जाने की कोशिश मे,

पास तेरे मैं आ गयी॥

Leave a Reply

%d bloggers like this: