”शिवलिंग” का सही अर्थ क्या है ?

Posted On by & filed under धर्म-अध्यात्म

शिवलिंग …गुप्तांग नहीं है… शिव के लिंग को “गुप्तांग” समझने वाले अवश्य पढें… प्रिय पाठकों/मित्रों, शिवलिंग का वास्तविक अर्थ क्या है और कैसे इसका गलत अर्थ निकालकर हिन्दुओं को भ्रमित किया गया कुछ लोग शिवलिंग की पूजा की आलोचना करते है, छोटे छोटे बच्चो को बताते है कि हिन्दू लोग लिंग और योनी की पूजा… Read more »

जानिए गणगौर पूजन क्या हैं और क्या हैं गणगोर व्रत की विधि और मनेगा 2017 में गणगोर —

Posted On by & filed under कला-संस्कृति, धर्म-अध्यात्म, वर्त-त्यौहार

भारत भर में चैत्र शुक्ल तृतीया का दिन गणगौर पर्व के रूप में मनाया जाता है। हिन्दू समाज में यह पर्व विशेष तौर पर केवल स्त्रियों के लिए ही होता है। होली के दूसरे दिन (चैत्र कृष्ण प्रतिपदा) से जो नवविवाहिताएँ प्रतिदिन गणगौर पूजती हैं, वे चैत्र शुक्ल द्वितीया के दिन किसी नदी, तालाब या… Read more »

भगवान शिव के अनेक अवतार

Posted On by & filed under धर्म-अध्यात्म

डा.राधेश्याम द्विवेदी हिंदू धर्म ग्रंथ पुराणों के अनुसार भगवान शिव ही समस्त सृष्टि के आदि कारण हैं। उन्हीं से ब्रह्मा, विष्णु सहित समस्त सृष्टि का उद्भव होता हैं। जिस प्रकार विष्णु के 24 अवतार हैं उसी प्रकार शिव के भी 28 अवतार हैं। वेदों में शिव का नाम ‘रुद्र’ रूप में आया है। रुद्र संहार… Read more »

होली के वासंती रंग में बाजार का कृतिम रंग न चढ़ाएं 

Posted On by & filed under कला-संस्कृति, धर्म-अध्यात्म, वर्त-त्यौहार

अखिलेश आर्येन्दु हम यदि होली के विभिन्न संदर्भों की बात करें तो पाते हैं कि न जाने कितने संदर्भ, घटनाएं, प्रसंग, परंपराएं और सांस्कृतिक-तत्त्व किसी न किसी रूप में इस प्रेम और सदभावना के महापर्व से जुडे़ हुए हैं। लेकिन सबसे बड़ा प्रतीक इस पर्व का प्रेम का वह छलकता अमृत-कलश है जिसमें हमारा अंतर-जगत्… Read more »

इस महाशिवरात्रि पर भगवान शिव के ये 10 उपाय बढ़ाएंगे आपकी आमदनी–

Posted On by & filed under धर्म-अध्यात्म

फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। परन्तु इस वर्ष चतुर्दशी तिथि 24 फरवरी 2017 की रात से प्रारम्भ होगी क्योंकि महाशिवरात्रि का पर्व रात्रि व्यापिनी होने पर ही विशेष फल दायक होती है, ऐसे में 25 फरवरी 2017 को चतुर्दशी तिथि तो है परन्तु रात्रि व्यापिनी… Read more »

महाशिवरात्रि 2017 पर बने हैं ये विशेष योग —

Posted On by & filed under धर्म-अध्यात्म, वर्त-त्यौहार

–,हमारे देश में सभी त्योहार बड़ी धूम धाम से मनाए जाते है। फिर वह चाहे दिवाली हो, होली हो या महाशिवरात्रि। आगामी 24 फरवरी 2017 को महाशिवरात्रि है। ऐसे में सभी श्रद्धालू धूम धाम से शिवरात्रि की तैयारी में लगे हुए है। देशभर के सभी शिव मंदिरों में धूम मची हुई है। विशेष बात यह… Read more »

ऋक्सूक्ति रत्नाकर वैदिक साहित्य का एक प्रमुख महनीय ग्रन्थ

Posted On by & filed under धर्म-अध्यात्म

मनमोहन कुमार आर्य वेद सब सत्य विद्याओं की पुस्तक है। वेद का पढ़ना पढ़ाना और सुनना सुनाना सब आर्यों का परम धर्म है। यह वाक्य सभी ऋषि भक्तों व आर्यसमाज के सदस्यों के जिह्वाग्र पर विद्यमान रहता है। हम यदि चारों वेदों का अध्ययन करें तो इसके लिए कई महीनों का समय लग सकता है।… Read more »

श्रेष्ठ एवं आदर्श महापुरुष ऋषि दयानन्द

Posted On by & filed under धर्म-अध्यात्म

मनमोहन कुमार आर्य ऋषि दयानन्द संसार के मनुष्यों व सभी ज्ञात महापुरुषों में सर्वश्रेष्ठ आदर्श महापुरुष हैं। इसके अनेक कारण एवं प्रमाण हैं जिनके आधार यह निष्कर्ष निकलता है। महाभारतकाल वर्तमान से लगभग 5,200 वर्ष पूर्व है। महाभारत काल के बाद ऐसे अनेक पुरुष व महापुरुष हुए जिनके बारे में देश व संसार के लोगों… Read more »

हम क्यों नहीं चढ़ाएं शिवलिंग पर दूध ??

Posted On by & filed under धर्म-अध्यात्म

“मैं अपने धर्म की शपथ लेता हूँ, मैं इसके लिए अपनी जान दे दूंगा. लेकिन यह मेरा व्यक्तिगत मामला है. राज्य का इससे कुछ लेना-देना नहीं. राज्य का काम धर्मनिरपेक्ष कल्याण, स्वास्थ्य , संचार, आदि मामलों का ख़याल रखना है, ना कि तुम्हारे और मेरे धर्म का.” – महात्मा गाँधी आजकल सोशल मिडिया पर आयेदिन… Read more »

गृह कलह रोकेंगे ये उपाय—

Posted On by & filed under जन-जागरण, ज्योतिष, धर्म-अध्यात्म

सामजिक व्यवस्था में घर-परिवार का अपना महत्व है, जहां सभी सदस्य मिल-जुलकर रहते हैं तथा एक-दूसरे की भावनाओं का सम्मान करते हुए भरण-पोषण की जिम्मेदारी निभाते हैं। परिवार में बने रिश्तों की डोर बड़ी नाजुनिवारण क होती है, एकता प्रेम और स्नेह भाव बनाए रखने के प्रयास के बावजूद कई बार छोटी-छोटी बातों को लेकर… Read more »