स्वास्थ्य के मानकों पर लड़ाई हारते आदिवासी

Posted On by & filed under स्‍वास्‍थ्‍य-योग

-राखी रघुवंशी खुली अर्थव्यवस्था, बाजारवाद और नव उपभोक्तावाद की चकाचौंध में कई मूलभूत समस्याएं सरकारी फाइलों में, नेताओं के झूठे वादों में और समाज के बदलते दृष्टिकोण के चलते दबकर रह जाती हैं। गरीबी, बदतर स्वास्थ्य सेवाएं और अशिक्षा के साथ-साथ बच्चों का बढ़ता कुपोषण भारत में एक बड़ी समस्या है जिसका निदान कहीं नहीं… Read more »

शहरीकरण और स्वास्थ्य स्वास्थ्य संबंधी चुनौतियां

Posted On by & filed under स्‍वास्‍थ्‍य-योग

-ए एन खान तेजी से बढ़ता हुआ शहरीकरण और शहरों की जनसंख्या में हो रही बढ़ोतरी को स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के समाधान की दिशा में प्रमुख चुनौतियों के रूप में देखा जाता रहा है। अनुमान है कि 1990 और 2025 के बीच विकासशील देशों में शहरी आबादी में तीन गुनी वृध्दि हो चुकी होगी और… Read more »

महिलाओं में कमर की चौड़ाई बढ़ने से बढ़ता है मौत का ख़तरा

Posted On by & filed under स्‍वास्‍थ्‍य-योग

-चांदनी नई दिल्ली. ऐसे कई प्रमाण मौजूद है जिनमें दिखाया गया है कि लम्बे समय तक कमर के आस पास फैट के बढ़ने से मधुमेह और हृदय बीमारी जैसी समस्याओं का खतरा पैदा हो जाता है, लेकिन हाल के हार्वर्ड ओर नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ हेल्थ के अध्ययन में दिखाया गया है कि महिलाओं में कमर… Read more »

साढ़े तीन साल में डॉक्टर बनाने की कैसी तरकीब

Posted On by & filed under स्‍वास्‍थ्‍य-योग

डीडीएस कम्यूनिटी सेन्टर के लिए काम करने वाली पूण्यम्मा जो किसानों की समस्या पर डाक्यूमेन्ट्री फिल्म बनाती हैं, आन्ध्र प्रदेश में बीटी कॉटन पर फिल्म बनाने के दौरान अपनी खुली जीप से नीचे गिर पड़ी। उन्हें चोट आई, जिससे उनकी कलाई की हड्डी टूट गई। उसके बाद वह अपनी टूटी हुई हड्डी को जुड़वाने के… Read more »

हार्मोन वाले दूध का विरोध?

Posted On by & filed under स्‍वास्‍थ्‍य-योग

दूध बढाने वाले बोवीन ग्रोथ हार्मोन गउओं को देने पर ऑस्‍ट्रेलिया, न्यूजीलैण्ड तथा जापान में प्रतिबन्ध लगा हुआ है। यूरोपियन यूनियन में इस दूध की बिक्री नहीं हो सकती। कैनेडा में इस दूध को शुरू करने का दबाव संयुक्त राष्‍ट्र की ओर से है। संयुक्त राज्य और इंग्लैण्ड के कई वैज्ञानिकों ने 1988 में ही… Read more »

पोलियो वैक्सीन से मौत!

Posted On by & filed under स्‍वास्‍थ्‍य-योग

मध्य प्रदेश के दमोह जिले में खसरे की वैक्सीन से चार बच्चों की मौत की खबर दर्दनाक और अफसोसजनक ही है। इस मामले को स्थानीय स्तर के बजाए व्यापक और राष्ट्रीय स्तर पर ही देखा जाना चाहिए। एक तरफ सरकार द्वारा पोलियो मुक्त समाज का दावा किया जा रहा है, वहीं जीवन रक्षक वैक्सीन ही… Read more »

कैसे लगे धनवंतरी के वंशजों पर अंकुश

Posted On by & filed under स्‍वास्‍थ्‍य-योग

पीडित मानवता की सेवा का संकल्प लेने वाले हिन्दुस्तान के चिकित्सकों की मानवता कभी की मर चुकी है। आज के युग में चिकित्सा का पेशा नोट कमाने का साधन बन चुका है। आज के समय को देखकर कहा जा सकता है कि मरीज की कालर एक डाक्टर द्वारा बिस्तर पर ही पकडी जाती है। दवा… Read more »

80 करोड ग्रामीणों का जीवन दाव पर!

Posted On by & filed under स्‍वास्‍थ्‍य-योग

वास्तव में इस देश का बण्टाधार करने वाले हैं, इस देश के बडे बाबू जो स्वयं को महामानव समझते हैं और इससे भी बडी और शर्मनाक बात यह है कि इस देश का मानसिक रूप से दिवालिया राजनैतिक नेतृत्व इन बडे बाबुओं की बैसाखी के सहारे ही अपनी राजनीति कर रहा है। ये बडे बाबू… Read more »

कैंसर के इलाज का झूठ

Posted On by & filed under स्‍वास्‍थ्‍य-योग

कैंसर के कारण और इलाज ढूंढने के दावे करने वाले समाचार बार-बार अनेक दशकों से छपते आ रहे हैं। पर कैंसर से मरने वालों की संख्या हर देश में हर साल बढ़ती ही जा रही है। विकासशील देशों की बात छोड़कर विकसित देशों को लें तो पुराने प्राप्त आंकड़े बतलाते हैं कि केवल इग्लैंड में… Read more »

ग्रामीण मेडिकल कोर्स की कवायद कितनी कारगर होगी

Posted On by & filed under स्‍वास्‍थ्‍य-योग

स्वास्थ्‍य मंत्रालय की संसदीय सलाहकार समिति भी अंतत: तीन वर्षीय ग्रामीण मेडिकल कोर्स को अमलीजामा पहनाने के लिए तैयार हो गई है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने पहले ही इस मामले में अपनी सहमति दे दी थी। सरकार द्वारा इस कोर्स को मंजूरी देने के पीछे मंशा पूरे देश में स्वास्थ की स्थिति में बेहतरी… Read more »