स्वास्थ्य नीति में बदलाव जरूरी

Posted On by & filed under स्‍वास्‍थ्‍य-योग

भारत को आजाद हुए बासठ साल से अधिक बीत चुके हैं। मानव जीवन में अगर कोई बासठ बसंत देख ले तो उसे उमरदराज माना जाता है। सरकार भी बासठ साल की आयु में अपने कर्तव्य से सरकारी कर्मचारी को सेवानिवृत कर देती है। राजनीति में यह नहीं होता है। राजनीति में 45 से 65 की… Read more »

ओस्टियोपोरोसिस – छिद्रित हड्डी के लक्षण एवं बचाव के उपाय हड्डियाँ

Posted On by & filed under स्‍वास्‍थ्‍य-योग

ओस्टियोपोरोसिस या छिद्रित हड्डियों या हड्डियाँ की एक आम बीमारी है जिसमे हड्डियाँ का द्रव्यमसन घट जाता है तथा हड्डियाँ के ऊतको का संरचनात्मक क्षरण होने लगता है जिससे हड्डियाँ की भंगुरता बढ जाती है तथा कूल्हों, रीढ तथा कलाई में फैक्चर होने का जोखिम बढ जाता है ओस्टियोपोरोसिस से महिला तथा पुरूष दोनो प्रभावित होते… Read more »

भारत स्वाइन फ्लू से निपटने को तैयार

Posted On by & filed under स्‍वास्‍थ्‍य-योग

इन दिनों दुनिया भर में स्वाइन फ्लू का प्रकोप है। अमेरिका समेत सभी देशों की सरकार इससे चिंतित है। इधर भारत के केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि देश, स्वाइन फ्लू नामक इनफ्लुएंजा ए (एच1 एन1)…

बाल अधिकार आयोग ने माना बच्चों की हालत ठीक नहीं

Posted On by & filed under स्‍वास्‍थ्‍य-योग

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष शान्ता सिन्हा ने कहा है कि वर्तमान व्यवस्था बच्चों के जीवन के अधिकार को संरक्षित कर पाने में नाकाम रही है।

ग्रामीण स्वास्थ्य की दशा

Posted On by & filed under स्‍वास्‍थ्‍य-योग

भारत ने पिछले दशकों में स्वास्थ्य मानकों में महत्वपूर्ण प्रगति की है। शिशु व मातृत्व मृत्यु दर में लगातार कमी आई है। कई गंभीर बीमारियों की समाप्ति और जीवन प्रत्याशा में भी वृध्दि हुई है। इन उपलब्धियों के बाद भी जनसंख्या का एक बड़ा हिस्सा, विशेषकर ग्रामीण भारत उचित स्वास्थ्य देखरेख से वंचित है। अभी… Read more »

दिल के रोगी रखें खानपान पर ध्यान

Posted On by & filed under स्‍वास्‍थ्‍य-योग

हृदय के प्रति थोड़ी सी भी लापरवाही काफी नुकसानदेह साबित हो सकती है। आमतौर पर धूम्रपान व शराब के सेवन एवं मोटापे की वजह से दिल की बीमारियां पैदा होती हैं। दिल के रोगों से बचने के लिए खानपान पर भी ध्यान देना जरूरी है।हृदय के रोगी को ऐसा भोजन करना चाहिए जिसमें शुगर कम… Read more »