बुंदेलों की सरज़मी की बदकिस्मती के लिए जिम्मेदार कौन?

Posted On by & filed under विविधा

– अखिलेश आर्येन्दु ”बुंदेलों हरबोलों के मुख हमने सुनी कहानी थी, खूब लड़ी मर्दानी वह तो झांसी वाली रानी थी।” जिन बुंदेलों की वीरगाथाओं की कहानियां, दंत कथाएं और गाथाएं देश में ही नही विदेशों में भी बड़े चाव से सुनी जाती हैं, उन बुंदेलों के इलाके में आज चारों तरफ हाहाकार मचा है। महज… Read more »