मानसिक जातियां–भाग दो

Posted On by & filed under समाज

Nicholas B. Dirks की पुस्‍तक Castes of Mind पर आधारित डॉ. मधुसूदन एक : उद्देश्य कोई, अगर पूछें, कि, इस प्रस्तुति का उद्देश्य क्या है? उद्देश्य है, इस अलग दृष्टिकोण को प्रस्तुत करना, जिसे मैंने भी कभी सोचा न था। और उद्देश्य है, राष्ट्र हितैषियों को, चिंतन के लिए, स्वस्थ बहस के लिए आमन्त्रित करना।… Read more »

मानसिक जातियां- भाग एक : प्रो. मधुसूदन

Posted On by & filed under समाज

”Castes of Mind” प्रो. निकोलस डर्क्स, पर आधारित लेख। (एक) प्रवेश पद पद पर जिस पुस्तक नें मुझे सानंद चौंकाया, उसके कुछ अंशोको आपके सामने रखने में आनंद का अनुभव करता हूं। पहले आग्रह से कह दूं, कि, भारत की हर लायब्ररी में ”Castes of Mind” पुस्तक होनी चाहिए, कालेज के इतिहास के पाठ्यक्रम में इसका… Read more »

”जाति”- भूषण या दूषण?

Posted On by & filed under समाज

डॉ. मधुसूदन विद्वानों की ज़बानी।  प्रवेश: पाठकों के, विचार-चिन्तन-मनन इत्यादि के लिए, कुछ मौलिक कथन (१) एक मिशनरी का(२) एक विशेषज्ञ का(३) एक प्रभावी विचारक का प्रस्तुत है।  पहले हिन्दी अनुवाद देता हूं। अंत में अंग्रेज़ी में मूल लेखक का कथन।  बहुतेरे लेखक वर्ण और जाति दोनों के लिए अंग्रेज़ी Caste का प्रयोग करते हैं।… Read more »