लेखक परिचय

प्रवक्ता.कॉम ब्यूरो

प्रवक्ता.कॉम ब्यूरो

Posted On by &filed under चुटकुले.


एकमुखी – कानून एक आदमी को दूसरी औरत से शादी की इजाजत क्यों नहीं दे ?

तीनमुखी – क्योंकि कानून के अनुसार आपको एक ही अपराध के लिए दो बार सजा नहीं दी जा सकती।


 

एकमुखी – कुत्ते शादी क्यों नहीं करते?

तीनमुखी – क्योंकि वो पहले से ही कुत्ते की जिन्दगी जी रहे होते हैं।


 

एकमुखी – औरत की उम्र आदमी से ज्यादा क्यों होती है?

तीनमुखी – खरीददारी करने वाले को कभी हर्ट अटैक नहीं पड़ता, परन्तु बिल चुकाने वाले को जरुर पड़ता है।


 

एकमुखी – मैंने शादी इसलिए की क्योंकि मैं खाना पकाने, घर की सफाई, कपड़े धोकर और गंदे कपड़े पहनकर थक गया था।

तीनमुखी – अरे बड़ी हैरानी की बात है, मैंने तो इन्ही सब कारणों से तलाक दिया।


 

एक बूढ़ी औरत ऐ टी एम् के पास- बेटा मेरा बैलन्स चेक करना।

एकमुखी ने उसे धक्का दे दिया, बूढ़ी औरत गिर गई।

तीनमुखी – आपका बैलन्स खराब है।


 

एकमुखी रेलवे स्टेशन में 3 नम्बर प्लेटफोर्म पर खड़ा था, अचानक वह रेलवे ट्रैक पर कूद पड़ा।

तीनमुखी – तुम मर जाओगे।

एकमुखी – मूर्ख, मरोगे तो तुम! तुमने अभी सुना नहीं ट्रेन अभी 3 नंबर प्लेटफोर्म पर आ रही है।


 

एकमुखी का 40 वा जन्म दिन था।

तीनमुखी – ये केक पर बल्ब क्यों लगाया है?

एकमुखी – 40 मोम्बत्तियाँ लगाने में मुश्किल हो रही थी इसलिये 40 वाट का बल्ब लगा दिया!


 

एकमुखी – रणवीर कपूर और पेट्रोल में क्या समानता हैं?

तीनमुखी – नहीं पता?

एकमुखी – अरे! दोनों के ही रेट बिना मतलब के बढ़ रहे हैं।


 

तीनमुखी – जब तुम नहाते हो तो दरवाजा खुला क्यों रखते हो?

एकमुखी – मैं डरता हूँ!

तीनमुखी – क्यों?

एकमुखी – कहीं कोई मुझे दरवाजे के की-होल से न देख ले।


 

एकमुखी – तुम जिस होटेल में ठहरे, कैसा था?

तीनमुखी – उसकी सर्विस का तो जवाब ही नहीं था।

एकमुखी – कैसे?

तीनमुखी – मैंने उनसे कहा, छह बजे जगा देना। उन्होंने मुझे पांच बजे ही जगा दिया और बोले, `सर, आप एक घंटा और सो सकते हैं`।


तीनमुखी – तुम सेलरी वाले दिन घर जाकर अपनी पत्नी को कितने पैसे देते हो?

एकमुखी – कुछ नहीं।

तीनमुखी – ये कैसे हो सकता है?

एकमुखी – वो मुझे ऑफिस के बाहर मिलती है, और वहीँ सारे पैसे ले लेती हैं।


 

तीनमुखी – ऐसा क्यों कहा जाता है कि `बच्चे घर का चिराग होते है`?

एकमुखी – क्योंकि वे कभी भी किसी लाइट को बंद नहीं करते।


 

एकमुखी और तीनमुखी आपस में चर्चा कर रहे थे।

एकमुखी – अगर मैं कॉफ़ी पी लूँ तो मैं सो नहीं सकता।

तीनमुखी – मेरे साथ बिलकुल इसका उल्टा है, अगर मैं सो जाऊं तो मैं कॉफ़ी नहीं पी सकता।


 

एकमुखी – तुम पियानो बजाते हुए अपनी आँखें बंद क्यों कर लेते हो?

तीनमुखी – मैं श्रोताओं के दुःख को नहीं देख सकता।


 

तीनमुखी – मेरे कुत्ते से मत डरो! तुमने वो कहावत नहीं सुनी है, `भौकने वाले कुत्ते कभी नहीं काटते`।

एकमुखी – मैं तो जानता हूँ, तुम भी जानते हो, पर इस कहावत को यह कुत्ता नहीं जानता।


Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz