आमिर के ये 2 तलाक महिलाओं के प्रति सम्मान हैं क्या ?

विवेक पाठक
जो मुंबइया फिल्म अभिनेता कई सालों से सामाजिक सरोकारों पर केन्द्रित सत्यमेव जयते सीरियल बनाकर समाज, देश और हम सबको सुधरने और सीखने नसीहत दे रहा था उसने खुद महिलाओं की सुरक्षा व सम्मान करना कितना सीखा। भला आज वो कौनसा उदाहरण पेश कर रहा है। हैरत की बात तो यह है कि शर्मनाक ढंग से वह दुबारा तलाक लेने के अपने फैसले पर खुशी जताते हुए इसे नए अध्याय की शुरुआत बता रहा है। पीके फिल्म मेंं जो मूर्ति पूजा, प्रवचन आदि को तरह तरह से पाखंड बता रहा था वो खुद असल जिंदगी में कितने दोहरे किरदार की शख्सियत है जरा खुद सोचिए। जीहां अभिनेता आमिर खान ने कल ऐसा ही काम किया है कि जिस पर ये चर्चा जरुरी है।
19 साल पहले रीना दत्ता को तलाक देने वाले आमिर खान ने एक बार फिर तलाक का गेम खेला है। आमिर खान ने किरण राव खान को 16 साल के वैवाहिक जीवन के बाद जीवन से बाहर का रास्ता दिखला दिया है। संभवत वे आगे के दिनों में तीसरी शादी की ओर हमें बढ़ते हुए दिखेंगे। मित्रों आमिर का ये कदम क्या महिलाओं के प्रति क्या कहा जाएगा। कम से कम सम्मान तो कतई नहीं।
आइए आमिर खान द्वारा खेले जा रहे तलाक के खेल को फुरसत से समझ लिया जाए। आमिर खान ने हिन्दू धर्म की युवती रीना दत्ता को साल 1986 में अपने प्रभाव में लिया। रीना आमिर के पड़ोस में रहती थीं एवं आमिर से दोस्ती के कारण उनके प्रति आकर्षित थीं मगर आमिर के मुस्लिम होने के कारण रीना के परिवार वाले आमिर के साथ रीना का विवाह नहीं करना चाहते थे मगर प्रेमी की बातों में आकर घर परिवार को कोने पर रखने वाली तमाम लड़कियों की तरह रीना भी मुस्लिम अमीर पुरुषों द्वारा थोकबंद दिए जाने वाले तलाकों की कहानी का पूर्वानुमान नहीं कर सकीं। आगे आमिर खान ने रीना दत्ता से शादी की और इस तरह वे रीना खान बन गयीं। हिन्दू होकर परिवार के खिलाफ जाकर मुस्लिम से शादी का फैसला कितना सही कितना गलत रहा ये साल 2002 में रीना के साथ देश भर ने देख लिया।
अपनी फिल्मों में दुनिया भर की ज्ञान की बातें बताने वाले आमिर खान ने 16 साल में ही रीना के साथ खायीं प्यार की कसमों को बेदर्दी से पानी में बहा दिया। उन्होंने रीना से निकाह तोड़ दिया और तलाक ले लिया। इस निकाह के टूटने के बाद रीना के किशोर उम्र के बच्चे जुनैद और इरा भी तलाक के दंश के शिकार हुए। चूंकि तलाक देकर आमिर खान दूसरी शादी करना चाहते थे इसलिए जुनैद खान और इरा खान को पिता के प्रेम के लिए तरसना पड़ा। आज मुस्लिम बनने का दंश भोग रहीं रीना लाइमलाइट से कोसों दूर हैं और पिता व परिवार के खिलाफ जाने की सजा भुगतते हुए अपना शेष जीवन एकाकी जी रही हैं।
आइए अब आमिर खान की दूसरी तलाक की कहानी भी जान समझ लें। रीना से दिल भरा तो आमिर खान ने ढाई साल में ही दूसरी हिन्दू युवती को अपने प्रभाव से चकाचौंध कर दिया। लगान फिल्म की शूटिंग के दौरान उन्होंने हिन्दू किरण राव से निकाह कर लिया और इस तरह बीस साल के अंदर ही आमिर ने दो हिन्दू युवतियों से निकाह कर लिए। निकाह के बाद लगान की असिस्टैण्ड फिल्म डायरेक्टर किरण राव किरण खान बन गईं। ये निकाह भी पहली ही की तरह कुल जमा 16 साल ही चला। इस निकाह से आमिर ने किरण खान के साथ एक बेटा आजाद खान पैदा किया। इस निकाह को सिर्फ 2 जुलाई 2021 तक चलाकर आमिर खान ने आज किरण को भी तलाक का असल मतलब समझा दिया।
बकौल आमिर खान जिन किरण खान को कथित रुप से कुछ साल पहले भारत में रहने में डर लग रहा था यकीनन पिछले कुछ समय से उन्हें आमिर खान के साथ रहने में ही कितना अच्छा लग रहा होगा वे खुद ही जानती होंगी। आमिर खान ने एक बार फिर समाज, देश सहित टीवी से सोद्देश्यपूर्ण समाज का दुनिया भर का ज्ञान देते हुए दूसरी हिन्दू लड़की को बीच जीवन में से ठुकरा दिया है।
आमिर के मुसलमान होनके के बाबजूद इन दो निकाह से दो हिन्दू परिवार के अनेक लोग प्रभावित हुए हैं। शादी करके उन्होंने इन दोनों हिन्दू युवतियों को मुस्लिम बनाया और पिछले करीब तीन दशक में तीन मुस्लिम बच्चे भी पैदा किए हैं। आगे इन दो महिलाओं और तीन मुस्लिम बच्चों से मुंह फेरते हुए आमिर खान ने तलाक का खेल खेला। देखते हैं अगला निकाह आमिर खान कौनसी हिन्दू युवती से करते हैं फिलहाल तो अब कुल जमा पांच जीवन आमिर के तलाक के खेल का असर जीवन भर भुगतने को मजबूर हो चुके हैं।

Leave a Reply

31 queries in 0.314
%d bloggers like this: