लोकेन्द्र सिंह राजपूत

युवा साहित्यकार लोकेन्द्र सिंह माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल में पदस्थ हैं। वे स्वदेश ग्वालियर, दैनिक भास्कर, पत्रिका और नईदुनिया जैसे प्रतिष्ठित संस्थान में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। देशभर के समाचार पत्र-पत्रिकाओं में समसाययिक विषयों पर आलेख, कहानी, कविता और यात्रा वृतांत प्रकाशित। उनके राजनीतिक आलेखों का संग्रह 'देश कठपुतलियों के हाथ में' प्रकाशित हो चुका है।

वन्यप्रदेश के लोकगीत सुनाते अमरकंटक के जलप्रपात

– लोकेन्द्र सिंह अमरकंटक, मध्यप्रदेश के प्राकृतिक सौंदर्य से समृद्ध पर्यटन स्थलों में प्रमुख है। यदि सरकार…

पत्रकारिता में शुचिता, नैतिकता और आदर्श के हामी दीनदयालजी

– लोकेन्द्र सिंह  (पं. दीनदयाल उपाध्याय जयंती विशेष – 25 सितम्बर) पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजनीतिज्ञ, चिंतक और विचारक के…

वर्षों से प्रकाशस्तंभ की भाँति विद्यमान हैं लोकनायक श्रीराम

– लोकेन्द्र सिंह मर्यादापुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम भारत की आत्मा हैं। राम भारतीय संस्कृति के भव्य-दिव्य मंदिर…

सरसंघचालक परंपरा के आदर्श हैं डॉक्टर साहब

– लोकेन्द्र सिंह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ वर्ष 2025 में शतायु हो जाएगा। अपनी सुदीर्घ यात्रा में संघ ने…

संभावना और चुनौतियों के बीच मूल्यानुगत मीडिया का आग्रह

– लोकेंद्र सिंह सक्रिय पत्रकारिता और उसके शिक्षण-प्रशिक्षण के सशक्त हस्ताक्षर प्रो. कमल दीक्षित की नयी…