लेखक परिचय

मयंक चतुर्वेदी

मयंक चतुर्वेदी

मयंक चतुर्वेदी मूलत: ग्वालियर, म.प्र. में जन्में ओर वहीं से इन्होंने पत्रकारिता की विधिवत शुरूआत दैनिक जागरण से की। 11 वर्षों से पत्रकारिता में सक्रिय मयंक चतुर्वेदी ने जीवाजी विश्वविद्यालय से पत्रकारिता में डिप्लोमा करने के साथ हिन्दी साहित्य में स्नातकोत्तर, एम.फिल तथा पी-एच.डी. तक अध्ययन किया है। कुछ समय शासकीय महाविद्यालय में हिन्दी विषय के सहायक प्राध्यापक भी रहे, साथ ही सिविल सेवा की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों को भी मार्गदर्शन प्रदान किया। राष्ट्रवादी सोच रखने वाले मयंक चतुर्वेदी पांचजन्य जैसे राष्ट्रीय साप्ताहिक, दैनिक स्वदेश से भी जुड़े हुए हैं। राष्ट्रीय मुद्दों पर लिखना ही इनकी फितरत है। सम्प्रति : मयंक चतुर्वेदी हिन्दुस्थान समाचार, बहुभाषी न्यूज एजेंसी के मध्यप्रदेश ब्यूरो प्रमुख हैं।

केंद्र का सबके लिए आवास पर काम

Posted On & filed under विविधा.

डॉ. मयंक चतुर्वेदी भारत में 80 के दशक में एक फिल्‍म आई थी रोटी, कपड़ा और मकान । इस फिल्म में अभिनेता शशिकपूर का एक प्रसिद्ध डायलॉग है, किसी भले आदमी ने कहा है कि ये मत सोचो कि देश तुम्‍हें क्‍या देता है, सोचो ये कि तुम देश को क्‍या दे सकते हो और जब तक हम सब ये… Read more »

देश पर कम होता ऋण भार

Posted On & filed under आर्थिकी, राजनीति.

डॉ. मयंक चतुर्वेदी ऋण को विकास के लिए जितना अधिक अपरिहार्य माना गया है, उतना ही लगातार इससे डूबे रहने को जनमानस में घोर विपत्‍ति‍कारक स्‍वीकार्य किया गया है। भारत पर आज दुनियाभर का कितना कर्ज है, यह जानकर जितनी अधिक चिंता होती है, वहीं इन दिनों इससे भी सतुष्‍टी का भाग जाग्रत होता है कि कम से… Read more »



पेट्रोल दामों पर सरकार की नीयत

Posted On & filed under आर्थिकी, विविधा.

डॉ. मयंक चतुर्वेदी देखते ही देखते मोदी सरकार में पेट्रोल के दाम 3 साल में सर्वाधिक हो गए,  इस दौरान क्रूड 45 फीसदी सस्ता रहा, किंतु भारतीय उपभोक्‍ताओं से पेट्रोल की कीमत कम होने के स्‍थान पर बढ़ोत्‍तरी के साथ ली गई। यह जो कीमतों का विरोधाभास है, जिसमें की एक ओर अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर कीमते कम हो… Read more »

जेएनयू में एबीवीपी नहीं हारी है

Posted On & filed under राजनीति.

डॉ. मयंक चतुर्वेदी यहां छात्र संघ चुनाव के आए परिणामों को देखें तो एकदम से ऐसा लगेगा कि जेएनयू के चुनावों में वामदल समर्थक छात्रों ने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्र प्रत्‍याशियों को हरा दिया। जीत का जश्‍न आज उनके नाम है जो देश में विरोध की राजनीति करते आए हैं और जिनका विश्‍वास सिर्फ… Read more »

भारत में बुलेट ट्रेन, मोदीजी कुछ विचारणीय बातें

Posted On & filed under विविधा.

डॉ. मयंक चतुर्वेदी जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे 14 सितंबर को भारत दौरे पर आ रहे हैं। निश्‍चित ही उनके आगमन पर हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उनके साथ द्विपक्षीय वार्ता भी होगी। इतना ही नहीं तो जो सूचना है उसके अनुसार मोदी और आबे गांधीनगर में वार्ता करने के साथ ही महत्वाकांक्षी मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल… Read more »

मोदी मंत्रीमण्‍डल में निर्मला सीतारमन का रक्षामंत्री बनना

Posted On & filed under राजनीति.

: डॉ. मयंक चतुर्वेदी एक निर्णय अप्रत्‍याशित है, कोई यह स्‍वप्‍न में भी उम्‍मीद नहीं कर सकता था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी सरकार में निर्मला सीतारमन का प्रमोशन करते हुए उन्हें कैबिनेट मंत्री के तौर पर रक्षा मंत्री अहम जिम्मेदारी सौंपेंगे। किंतु अपने स्‍वभाव के अनुसार ही उन्‍होंने ये निर्णय कर सभी को एक  बार फिर… Read more »

कश्‍मीर ईद पर भी क्‍यों जल रहा है ?

Posted On & filed under समाज.

डॉ. मयंक चतुर्वेदी यह प्रश्‍न इसलिए कि ईद को इस्‍लाम में अमन चैन का त्‍यौहार कहा जाता है, ईद भाईचारे का त्‍यौहार भी है इसके बाद भी कश्‍मीर से कई स्‍थानों पर ईद के दिन भी न भाईचारा नजर आया और न ही अमन चैन, जो दिखाई दिया वह पत्‍थरबाजी थी। इनके निशाने पर हमेशा की तरह वह भारतीय जवान… Read more »

भारत का एनएसजी सदस्‍या में चीनी अंड़गा खत्‍म होगा

Posted On & filed under राजनीति.

 डॉ. मयंक चतुर्वेदी   पिछले कई वर्षों से भारत सरकार इस कोशिश में लगी है कि भारत भी न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप (एनएसजी) का हिस्सा बन जाए। केंद्र में मोदी सरकार आने के बाद तो जैसे इस प्रयत्‍न में अत्‍यधिक तेजी आ गई है, किंतु इसके बाद भी पिछले कई सालों में हमें इस समूह का हिस्‍सा… Read more »

सांसद भागीरथ प्रसाद का हवाई यात्रा के दौरान उखड़ना ?  

Posted On & filed under विविधा.

डॉ. मयंक चतुर्वेदी जनप्रतिनिधि से देश की जनता क्‍या आशा करती है? यही की उसके आचरण में सबसे अधिक शालीनता होनी चाहिए, उसके विचार एवं भाव इतने उत्‍कृष्‍ट और उच्‍चश्रेणी के हों कि वे अपने सहयोगियों एवं उन सभी को विश्‍वास से भर सकें जो उनके नेतृत्‍व में अपना विश्‍वास व्‍यक्‍त करते हैं। किंतु जब कोई सामान्‍य… Read more »

मनकी बात में अंतिम व्‍यक्‍ति की चिंता करते मोदी

Posted On & filed under विविधा.

डॉ. मयंक चतुर्वेदी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आकाशवाणी से ‘मन की बात’ कार्यक्रम के 35वें संस्‍करण के जरिए लोगों के साथ जब अपने विचार साझा कर रहे थे तो यही लग रहा था कि देश के साथ यह सीधा संवाद प्रधानमंत्री या कोई प्रधानसेवक नहीं कर रहा, यह बातें तो हर उस भारतीय के मन की हैं जो दुनिया… Read more »