प्रणय विक्रम सिंह

लेखक श्रमजीवी पत्रकार है. सामाजिक राजनैतिक, और जनसरोकार के विषयों पर लेखन कार्य पिछले कई वर्षो से चल रहा है.

कश्मीरी पंडितों का पुनर्वास है, भारत की संप्रभुता की कसौटी : सुशील पंडित

वंचित, व्यथित और विस्थापित जब सूत्रबद्ध होकर एक कौम की शक्ल अख्तियार करते हैं तो कश्मीरी हिन्दुओं की बनावट आकार...

चुनावी सियासत की भेंट चढ़ा राजीव हत्याकांड

-प्रणय विक्रम सिंह-    उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को एक ऐतिहासिक फैसला सुनाया और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के तीन...

20 queries in 0.356