संजय सक्‍सेना

मूल रूप से उत्तर प्रदेश के लखनऊ निवासी संजय कुमार सक्सेना ने पत्रकारिता में परास्नातक की डिग्री हासिल करने के बाद मिशन के रूप में पत्रकारिता की शुरूआत 1990 में लखनऊ से ही प्रकाशित हिन्दी समाचार पत्र 'नवजीवन' से की।यह सफर आगे बढ़ा तो 'दैनिक जागरण' बरेली और मुरादाबाद में बतौर उप-संपादक/रिपोर्टर अगले पड़ाव पर पहुंचा। इसके पश्चात एक बार फिर लेखक को अपनी जन्मस्थली लखनऊ से प्रकाशित समाचार पत्र 'स्वतंत्र चेतना' और 'राष्ट्रीय स्वरूप' में काम करने का मौका मिला। इस दौरान विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं जैसे दैनिक 'आज' 'पंजाब केसरी' 'मिलाप' 'सहारा समय' ' इंडिया न्यूज''नई सदी' 'प्रवक्ता' आदि में समय-समय पर राजनीतिक लेखों के अलावा क्राइम रिपोर्ट पर आधारित पत्रिकाओं 'सत्यकथा ' 'मनोहर कहानियां' 'महानगर कहानियां' में भी स्वतंत्र लेखन का कार्य करता रहा तो ई न्यूज पोर्टल 'प्रभासाक्षी' से जुड़ने का अवसर भी मिला।

मोदी सरकार की आड़ में हिन्दुओं को गाली देने वाली बिगे्रड अब ‘कैब’ विरोध के नाम पर मैदान में

संजय सक्सेना केन्द्र की मोदी सरकार ने आखिरकार भारी विरोध के बीच अपने घोषणा पत्र के एक और चुनावी वायदे...

उन्नाव पीड़िता को भी मिले हैदराबाद पीड़िता जैसा ‘इंसाफ’

संजय सक्सेना लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था और महिला उत्पीड़न की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही है,कहीं कोई गैंगरेप...

महाराष्ट्र में बाबरी मस्जिद तोड़ने वालों के साथ अखिलेश का ‘समाजवाद’

संजय सक्सेना काॅमन मिनिमम प्रोग्राम (सामान्य न्यूनतम कार्यक्रम) की सत्ता के गलियारों में आजकल खूब चर्चा होती है। एक तरह...

कमलेश हत्याकांडः हत्यारे आगे,पुलिस पीछे-पीछे

फास्ट टेªक कोर्ट में चलेगा मुकदमा, जल्द मिलेगी सजा संजय सक्सेना लखनऊ। हिन्दू महासभा के अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड में...

यूपी कांग्रेसः युवाओं को ‘ताज‘ बुजुर्गों को ‘वनवास’

संजय सक्सेना उत्तर प्रदेश से राहुल गांधी की बेरूखी ने कांगे्रस महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका वाड्रा गांधी...

‘जय श्री राम’ को ‘जेएसआर’ बनाने वाली मानसिकता

मोदी के बहाने हिन्दुओं की भावनाओं से खिलवाड़ करने वाले नेताओं की संजय सक्सेना हिन्दुस्तान में ऐसे लोगों की लम्बी-चैड़ी...

28 queries in 0.418