श्रीराम तिवारी

लेखक जनवादी साहित्यकार, ट्रेड यूनियन संगठक एवं वामपंथी कार्यकर्ता हैं। पता: १४- डी /एस-४, स्कीम -७८, {अरण्य} विजयनगर, इंदौर, एम. पी.

हलाला ‘कानून और ‘तीन तलाक’ जैसे बर्बर कानूनको त्यागने में दिक्कत क्या है ?

गुस्से में तीन बार तलाक कहने और उन शब्दों को 'ब्रह्म वाक्य' मान लेने से मुस्लिम समाज में कई बार...

जिन्हें आप्रेशन सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत चाहिए वे नोट करें !

भारत का दक्षिणपंथी दकियानूसी 'भांड परिवार' सनातन से ढपोरशंख बजाने के लिए कुख्यात है। जब तक यह स्वयंभू 'नकली देशभक्त...

इतिहास साक्षी है भारत ने हमेशा बचाव में ही हथियार उठाये हैं।

भारत सहित दुनिया के तमाम धर्मांध समाजों और राष्ट्रों को ,उनके अतीत के परंपरावादी पुरातनपंथी कूड़ मगज दिमागों के 'कुल...

युध्द होगा तो पाकिस्तान खत्म हो जाएगा !

युध्द होगा तो पाकिस्तान खत्म हो जाएगा ! भारत के प्रति पाकिस्तानी हुक्मरानों का शत्रुतापूर्ण व्यवहार और वैचारिक दुर्भावना किसी ...

उनकी नजर में शायद हिंदी शासितों की भाषा है,और अंग्रेजी शासकों की भाषा है।

श्रीराम तिवारी वेशक दुनिया के अधिकांस प्राच्य भाषा विशारद ,व्याकरणवेत्ता ,अध्यात्म -दर्शन के अध्येता और भाषा रिसर्च- स्कालर समवेत स्वर...

लोग योगेश्वर श्रीकृष्ण को भूलकर, माखनचोर के पीछे क्यों पड़े रहते हैं ?

हिन्दू पौराणिक मिथ अनुसार भगवान् विष्णु के दस अवतार माने गए हैं। कहीं-कहीं २४ अवतार भी माने गए हैं। अधिकांस...

इस्लामिक आतंकवाद से भारत में धर्मनिरपेक्षता को गम्भीर खतरा

यह सोलह आने सच है कि पाकिस्तान का जन्म ब्रिटिश साम्राज्य और उसकी पालित-पोषित मुस्लिम लीग के 'द्विराष्ट्र' सिद्धांत की...

अफजल गुरु,याकूब मेनन कोई शांति के मसीहा नहीं थे

होली का त्यौहार अभी नहीं आया ,किन्तु हमारे जम्बूदीपे -भरतखण्डे के विनोदी सियासतदां एक दूसरे का मजाक उड़ाने में अभी...

बिल्ली काली हो या सफेद यदि चूहों को मारती है तो हमारे काम की है ”-माओत्से तुंग !

किसी भी आदर्श लोकतान्त्रिक व्यवस्था में विपक्ष और आम जनता द्वारा 'सत्ता पक्ष 'की स्वस्थ आलोचना जायज है। सिर्फ जायज...

इस चालू ढर्रे से भारतीय युवाओं को किसी धर्मनिपेक्ष -क्रांतिकारी विचारधारा से लेस नहीं किया जा सकता।

अंग्रेजों की जै -जैकार करने  वाली विचारधारा के आधुनिक उत्तराधिकारी अब आज के स्वयंभू राष्ट्रवादी स्थापित हो चुके हैं। तमाम दुश्वारियों और चूकों के वावजूद  भारत...

किकू शारदा ने अनजाने में उस दाढ़ी में हाथ दाल दिया ,जिसमें असंख्य साँप -बिच्छू पल रहे हैं।

गोस्वामी तुलसीदास जी कह गए हैं कि "प्रीत विरोध समान सन ,,,,,"अर्थात दोस्ती -दुश्मनी तो बराबरी वाले से ही ठीक...

16 queries in 2.241