धर्म-अध्यात्म

धर्मचिन्तन से उद्भूत राष्ट्रचिंतन सदा प्रबल रहा

 राकेश कुमार आर्य वेद का पुरूष सूक्त बड़ा ही आनंददायक है। वहां क्षर पुरूष प्रकृति…