धर्म-अध्यात्म

विश्व में ईश्वरीय ज्ञान वेद का धारक, रक्षक एवं प्रचारक आर्यसमाज है

-मनमोहन कुमार आर्यप्रश्न क्या परमात्मा है? क्या वह ज्ञान से युक्त सत्ता है? क्या उसने सृष्टि की आदि में मनुष्यों...

वेदों ने विद्या प्राप्त मनुष्यों के लिये द्विज शब्द का प्रयोग किया है

-मनमोहन कुमार आर्यसंसार में दो प्रकार के लोग हंै जिन्हें हम शिक्षित एवं अशिक्षित तथा चरित्रवान एवं चारीत्रिक दृष्टि से...

जय जगदीश हरे आरति के रचयिता पण्डित श्रद्धाराम फिल्लौरी

आत्माराम यादव पीव भारतवर्ष ही नहीं अपितु देश-दुनिया में कई देशों के सनातन धर्मावलम्बियों, वैष्णवों, साधु-संतों व ईश्वर के प्रति...

सृष्टि की आदि-ज्ञान-पुस्तक वेद का महत्व और हमारा कर्तव्य

-मनमोहन कुमार आर्य                 ऋषि दयानन्द ने अपना जीवन ईश्वर के सत्यस्वरूप की खोज एवं मृत्यु पर विजय पाने के...

वैदिक मंत्रों में ही निहित होते हैं मंत्र देवता का नाम अर्थात विषय

-अशोक “प्रवृद्ध”वैदिक मतानुसार जिसे शब्दों में वर्णन किया जा सके, उसे पदार्थ कहा जाता है, और दिव्य गुण युक्त पदार्थ...

सत्याचरण से अमृतमय मोक्ष की प्राप्ति मनुष्य जीवन का लक्ष्य

-मनमोहन कुमार आर्यहमारी जीवात्माओं को मनुष्य जीवन ईश्वर की देन है। ईश्वर सच्चिदानन्दस्वरूप, सर्वव्यापक, सर्वशक्तिमान होने के साथ सर्वज्ञ भी...

मनुष्य की ही तरह पशु-पक्षियों को भी जीनें का अधिकार है

-मनमोहन कुमार आर्यपरमात्मा ने संसार में जीवात्माओं के कर्मों के अनुसार अनेक प्राणी-योनियों को बनाया है। हमने अपने पिछले जन्म...

आर्यसमाज के गौरव, वैदिक धर्मानुरागी एवं ऋषिभक्त स्वामी प्रणवानन्द सरस्वती

स्वामी प्रणवानन्द जी को 75वें जन्मदिवस पर बधाई-मनमोहन कुमार आर्य, देहरादून।स्वामी प्रणवानन्द सरस्वती जी (जन्म दिवस 7-7-1947) आर्यजगत् के विख्यात...

ऋषियों का सन्देश कि संसार के सभी प्राणियों में एक समान आत्मा है

-मनमोहन कुमार आर्यहम मनुष्य हैं। हम वेदों एवं अपने पूर्वज ऋषियों आदि की सहायता से जानते हैं कि संसार में...

गुरुकुल मंझावली की स्थापना की पृष्ठभूमि एवं संक्षिप्त इतिहास

-मनमोहन कुमार आर्य, देहरादून।आर्ष गुरुकुल गौतमनगर, दिल्ली के अन्तर्गत सम्प्रति आठ गुरुकुलों का संचालन हो रहा है। गुरुकुल गौतमनगर अन्य...

23 queries in 0.428