धर्म-अध्यात्म

महाभारतकाल के बाद ऋषि दयानन्द ही ने सर्वप्रथम सर्वांगीण सद्धर्म का प्रचार किया

मनमोहन कुमार आर्य धर्म सत्याचरण को कहते हैं। इसके लिए मनुष्य को व्यापक रूप से…

सत्यार्थप्रकाश का आर्य हिन्दू धर्म की रक्षा में महत्व व योगदान

–मनमोहन कुमार आर्य, देहरादून।                सनातन वैदिक धर्म का अज्ञान, अन्धविश्वासों, अनेक सामाजिक विकृतियों सहित…

“ईश्वर जीवात्मा के कल्याण के लिये उसे शरीर में भेजते हैं तथा समय आने पर उसका शरीर बदल देते हैं : डॉ. वागीश शास्त्री”

–मनमोहन कुमार आर्य, देहरादून।                 आर्यसमाज धामावाला, देहरादून के 139वे वार्षिकोत्सव के दूसरे दिन प्रातःकालीन…

परमात्मा ने पशु-पक्षियों की भांति मनुष्यों को जीवनयापन का ज्ञान नहीं दिया, इसका कारण पता नहीं चलता : डॉ. वागीश शास्त्री

मनमोहन कुमार आर्य, देहरादून।                 महर्षि दयानन्द द्वारा सन् 1879 में स्थापित आर्यसमाज-धामावाला, देहरादून का…