कविता

हिन्दू ऐसे होते जो शत्रु को पूर्वजन्म के स्वजन समझते

—विनय कुमार विनायकहिन्दू ऐसे होतेजो सबको शुभकामना देते! हिन्दू मन का ताना-बाना,हिन्दू का संपूर्ण आशियाना,हिन्दुत्व…