गौहत्या व सरेआम बीफ पार्टी पर सोनिया गांधी मांगें माफी : डा सुरेन्द्र जैन

0
113

नई दिल्ली। मई 29, 2017. पशुओं के विरुद्ध क्रूरता को रोकने के लिए केंद्र सरकार द्वारा जारी नोटीफिकेशन के विरुद्ध सीपीएम तथा काँग्रेस द्वारा की गई प्रतिक्रिया अमानवीय, संवेदनशून्य तथा बर्बरता पूर्ण है. काँग्रेस व सीपीएम द्वारा सरेआम गौमांस भोज का आयोजन किए जाने तथा गौमाता का कटा सिर हाथ में लेकर प्रदर्शन किए जाने पर विश्व हिन्दू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय संयुक्त महा मंत्री डा सुरेन्द्र जैन ने काँग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी तथा राहुल गांधी से माफी माँगने अन्यथा हिन्दू जनमानस के आक्रोश को झेलने के लिए तैयार रहने की चेतावनी दी है.

एक बयान जारी कर उन्होंने कहा है कि सीपीएम द्वारा ऐसा करना तो उनकी अप-संस्कृति के अनुकूल ही है. जो अपने विरोधियों की बर्बरतापूर्ण ह्त्या करने में ज़रा भी संकोच नहीं करते, उनसे गौ माता के प्रति संवेदना की अपेक्षा नहीं की जा सकती. हिंदू समाज की भावनाओं का अपमान करना तो उनके चरित्र का हिस्सा बन गया है. परन्तु, जिस काँग्रेस ने गौ रक्षा को कभी स्वतंत्रता आन्दोलन का आधार बनाया था, उनके कार्यकर्ता सरेआम गौमाता का बध कर उसे डीसीसी आफिस के बाहर पकाते हैं, गौमांस की पार्टी करते हैं, गौमाता का कटा हुआ सर हाथ में लेकर प्रदर्शन करते हैं और ऊपर से उस सबका वीडियो भी स्वयं ही वाइरल करते हैं, इससे बड़ा वीभत्स बर्बर और निंदनीय काम और क्या हो सकता है? काँग्रेस के किसी प्रवक्ता ने इस महापाप की आलोचना तक करना भी उचित नहीं समझा. बल्कि कुछ प्रवक्ताओं ने तो इसे उचित ठहराने की हिमाकत भी की है. काँग्रेस अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी व युवराज राहुल गांधी की इस विषय पर चुप्पी घोर आश्चर्यजनक है. उन्होंने पूछा कि किसी जमाने की गौ रक्षक काँग्रेस क्या अब गौ-भक्षक बन गई है? शायद महात्मा गांधी ने भी काँग्रेस के इस पतन की कल्पना तक नहीं की होगी.

 

विहिप के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री विनोद बंसल द्वारा जारी किए गए डा सुरेन्द्र जैन के इस बयान में यह भी कहा गया है कि हिन्दू समाज इन दलों के द्वारा गौमाता के साथ की गई बर्बरता से व्यथित है. केंद्र सरकार के विरोध का यह तरीका किसी की भी समझ से परे है. हिन्दू समाज सीपीएम को सबक सिखा ही रहा है, किन्तु उसका यह गुस्सा काँग्रेस को भी बहुत भारी पडेगा. श्रीमती सोनिया गांधी गौ हत्या के पाप के लिए माफी मांगें अन्यथा उन्हें हिन्दुओं के आक्रोश का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए.

 

भवदीय

 

विनोद बंसल

(राष्ट्रीय प्रवक्ता)

विश्व हिन्दू परिषद)

ट्विटर : @vinod_bansal

M – 9810949109

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here