यहूदी धर्म और पैगम्बर नूह,अब्राहम,मूसा

—विनय कुमार विनायक
यहूदी धर्म हिब्रू जन का जिनका
मेसोपोटामिया या इराक था मूल निवास
(दजला और फरात नदी के बीच का भूभाग)
अब्राहम उनका नेता जिन्होंने चुना फिलिस्तीन का वास
ईसा पूर्व सत्तरह सौ के आसपास
हिब्रुओं ने बनाया नील नदी के पास मिस्र में आवास
मिस्री शाशक फराहो ने उनपर महाकहर बरपाया
मूसा ने तेरहवीं शती ईसा पूर्व में
उन्हें पुनः फिलिस्तीन ला बसाया
मूसा था नील नदी में बहाया गया परित्यक्त संतान,
जिन्हें मिस्र की फराहो रानी ने
राजकुमार की तरह पाला था अपना पुत्र मान
किन्तु जन्म रहस्य को जान,खुद को यहूदी पहचान
मूसा ने विद्रोह किया मिस्री फराहो से
और बहुदेववादी यहूदी कबीले को संगठित कर
उन्होंने एकेश्वरवाद का पाठ पढ़ाया-
एकमात्र “यहोवा” हीं तबसे उनको भाया
ईश्वर का दस उपदेश ईश्वरीय प्रेरणावश
मूसा ने यहूदियों को सिनाई पर्वत से सुनाया-
मेरे सिवा किसी को देव मत मानो,
मेरी मूर्ति मत पूजो,ईश्वर का नाम अकारण मत लो
सैबथ को पवित्र मानो(सिनागॉग में प्रार्थना दिवस शनिवार),
माता पिता आदर करो,हिंसा त्यागो,
नाजायज संबंध, चोरी, झूठी गवाही से बचो,
दूसरों की चीजों से ईष्या मत करो!
तबसे मूसा यहूदियों का देवदूत;नबी; पैगम्बर हो गए!
हुए संगठित हिब्रू जन और बसाया एक संयुक्त राज्य
जिसका नाम फिलिस्तीन और राजधानी जेरुसलम में
(जेरुसलम यहूदी, ईसाई, इस्लाम का पवित्र स्थल है)
लेकिन राज्य शीघ्र बंटा-इजरायल और जूदा वतन में!
आगे चलकर ईसा पूर्व छठी शती में
इजरायल को असीरयाई ने हड़प लिया
और जूदा को बाबुलवालों ने अधीन किया
पुनः पूर्ण फिलीस्तीन ईरान में हुआ विलीन
फिर यूनानी सिकंदर के अंदर,
ईस्वी सन् सत्तर जब आया रोम ने इसे एक प्रांत बनाया!
यहूदी पैगंबरों ने कहा-
एकमात्र यहोवा पाप मुक्ति दाता,जगत त्राण कर्ता
जो मसीहा बनकर इस पृथ्वी पर आता!
अहदनामा/ओल्ड टेस्टामेंट के अनुसार
यहूदी धर्म जल प्रलय के बाद हजरत नूह से चला
(जो प्रलयकालीन वैदिक पौराणिक मनु थे)
आदम, अब्राहम,मूसा हैं यहूदी, ईसाई, इस्लाम के पैगम्बर
तीनों धर्मावलंबी इन तीनों को देते आदर!
यहूदी का धर्म ग्रंथ तनख;तालमुद;तोरा अहदनामा नाम से
बाइबल में संकलित ओल्ड टेस्टामेंट कहलाता!
यहूदी धर्म प्रवर्तक पैगम्बर अब्राहम पुत्र द्वय
हजरत इसहाक/इस्माइल, पौत्र याकूब इजरायल के पुत्र
यहूदा के वंशज आज कहलाते हैं यहूदी!
क्या ये महाभारत युद्ध के बाद पश्चिम की ओर
पलायन कर गए यदुवंशी साम (सीरिया),
अरब देश(और्व देश) मिस्र, फिलिस्तीन, इजरायल में
फैले प्राचीन ब्रह्मावर्त के भारतवंशी तो नहीं?

Leave a Reply

%d bloggers like this: