विनय कुमार'विनायक'

बी. एस्सी. (जीव विज्ञान),एम.ए.(हिन्दी), केन्द्रीय अनुवाद ब्युरो से प्रशिक्षित अनुवादक, हिन्दी में व्याख्याता पात्रता प्रमाण पत्र प्राप्त, पत्र-पत्रिकाओं में कविता लेखन, मिथकीय सांस्कृतिक साहित्य में विशेष रुचि।

जितनी समस्या है विदेशी मजहब अपनाने से

---विनय कुमार विनायकआज तमाम इस्लामी औ' गैर-इस्लामी मुल्क में,जितनी समस्याएं है विदेशी मजहब अपनाने से! विदेशी मजहब मानने से, मानवता...

भारत का शिक्षा क्षेत्र में नहीं थी कोई शानी

---विनय कुमार विनायकभारत का शिक्षा क्षेत्र में नहीं थी कोई शानी,प्राचीन भारत में घर-घर में लोग होते ज्ञानी,तक्षशिला, बिहार का...

आज गोरक्षा सिर्फ संघ परिवार नहीं गांधीवादी व अहिन्दुओं के लिए भी है

---विनय कुमार विनायकसृष्टि के आरंभ में अभाव था कृषि अन्न का,तभी जीव ही जीव का भोजन था,सृष्टि के आरंभ में...

डाकघर के कर्मवीर

---विनय कुमार विनायकहे डाकघरतुम जैसे वैसेतेरे कर्मवीरतेरे गात्र की लालीसाहीबहताहैउनका अश्रु नीर! तेरी ही पत्र पेटी केजैसाउनका पेटकभी नही भरताकठिन...

18 queries in 0.401