मै रहूँ न रहूँ,मेरा देश रहना चाहिए |

मै रहूँ न रहूँ,मेरा देश रहना चाहिए |
मै बढ़ूँ न बढूँ मेरा देश बढ़ना चाहिए ||

आया है जनसँख्या का सैलाब,यह रूकना चाहिए |
साधन है सीमित,जनसँख्या तो कम होनी चाहिए ||

करे मेरा देश विकास,उसका विश्व में नाम हो |
बन जाये विश्व गुरु,उसकी विश्व में शान हो ||

हर हाथ को काम,हर इनसान को शिक्षा मिले |
सब हो समान इस देश में,यह अधिकार मिले ||

है हम शान्ति के पुजारी,युद्ध से बचना चाहिए |
जो करे हमारी शांति भंग उससे लड़ना चाहिए ||

करते नहीं अपमान किसी का,हमे सम्मान चाहिए |
रखते है सभी से दोस्ती,हमे उसका मान तो चाहिए ||

मै रहूँ न रहू,मेरा देश रहना चाहिए |
मै बढूँ न बढूँ,मेरा देश बढ़ना चाहिए ||

आर के रस्तोगी

Leave a Reply

%d bloggers like this: