शिक्षा में नैतिक मूल्य विषयक राष्ट्रीय संगोष्ठी

नई दिल्ली, 22 जुलाई 2019। 
अंतरराष्ट्रीय सांस्कृतिक केंद्र मनुमुक्त भवन, नारनौल हरियाणा में ‘शिक्षा में नैतिक मूल्यों का समावेश’ विषयक राष्ट्रीय संगोष्ठी में उल्लेखनीय लेखन, पत्रकारिता, शिक्षा एवं समाजसेवा के लिए सुखी परिवार फाउंडेशन के राष्ट्रीय संयोजक, पत्रकार एवं लेखक श्री ललित गर्ग को मनुमुक्त राष्ट्रीय अवार्ड से सम्मानित किया गया। मनुमुक्त मानव मेमोरियल ट्रस्ट के चीफ ट्रस्टी डाॅ. रामनिवास मानव, बाबा मस्तनाथ विश्वविद्यालय-रोहतक के कुलपति डाॅ. रामसजन पाण्डेय, सिंघानिया विश्वविद्यालय, पचेरी बड़ी राजस्थान के कुलपति डॉ उमाशंकर यादव, हरियाणा कला परिषद के निदेशक श्री महेश जोशी, जिला बाल कल्याण परिषद के निदेशक डाॅ. बिपिन शर्मा, जिला उपभोक्ता फोरम महेंद्रगढ़ और भिवानी के पूर्व अध्यक्ष बुद्धदेव यादव ने श्री गर्ग को प्रशस्ति पत्र, दुपट्टा एवं शील्ड प्रदान कर इनका सम्मान किया। श्री गर्ग पिछले तीन दशक से राष्ट्रीय स्तर पर लेखन और पत्रकारिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय सेवाएं प्रदत्त करते हुए नैतिक मूल्यों के आंदोलन अणुव्रत आंदोलन के साथ सक्रिय रूप से जुड़े रहे हैं। विदित हो वर्तमान में श्री गर्ग सूर्यनगर एज्यूकेशनल सोसायटी (रजि॰) द्वारा संचालित विद्या भारती स्कूल के कार्यकारी अध्यक्ष हैं। विदित हो गर्ग को राष्ट्रीय अणुव्रत लेखक पुरस्कार एवं महाप्रज्ञ प्रतिभा पुरस्कार सहित अनेक पुरस्कारों से भी सम्मानित किया जा चुका है। वे वर्तमान में भारत सरकार के गृह मंत्रालय के अंतर्गत राजभाषा समिति के सदस्य भी हैं।
मनुमुक्त मानव मेमोरियल ट्रस्ट के अध्यक्ष डाॅ. रामनिवास मानव ने श्री गर्ग की नैतिक एवं स्वस्थ लेखन की प्रतिबद्धता की चर्चा करते हुए कहा कि श्री गर्ग सृजनशील प्रतिभा हैं, उनके लेखन में जीवंतता है और वर्तमान समस्याओं का सजीव चित्रण है। आचार्य तुलसी, आचार्य महाप्रज्ञ एवं आचार्य महाश्रमण के साथ सक्रिय रूप से कार्य करने वाले श्री गर्ग राजधानी की विभिन्न सांस्कृतिक एवं साहित्यिक संस्थाओं के साथ सक्रिय रूप से जुड़े हैं। ऐसी प्रतिभा को सम्मानित कर मनुमुक्त ट्रस्ट गौरव का अनुभव करती है।
समारोह के मुख्य अतिथि हरियाणा कला परिषद के निदेशक श्री महेश जोशी़ ने कहा कि श्री ललित गर्ग हमारे देश एवं समाज की एक विशिष्ट प्रतिभा है। साहित्य, पत्रकारिता और समाजसेवा की दृष्टि से इनकी राष्ट्र को विशिष्ट सेवाएं प्राप्त हो रही हैं। समारोह के अध्यक्ष बाबा मस्तनाथ विश्वविद्यालय-रोहतक के कुलपति तथा अखिल भारतीय साहित्य परिषद के प्रादेशिक अध्यक्ष डॉ रामसजन पांडे ने अपने अध्यक्षीय वक्तव्य में नैतिक शिक्षा के महत्व पर जोर देते हुए स्पष्ट किया कि देश और समाज के समुचित विकास हेतु हमें अपनी जड़ों की ओर लौटना होगा, क्योंकि सभ्यता और संस्कृति तथा जीवन मूल्यों से जुड़कर ही शिक्षा युवा पीढ़ी का सही मार्गदर्शन कर सकती है। उन्होंने श्री गर्ग की उल्लेखनीय सेवाओं की चर्चा करते हुए कहा कि उनका सम्मान नैतिक मूल्यों का सम्मान है। सिंघानिया विश्वविद्यालय, पचेरी बड़ी राजस्थान के कुलपति डॉ उमाशंकर यादव ने देश  की  अधिकतर समस्याओं का मूल कारण वर्तमान शिक्षा पद्धति को बताते हुए इस अवसर पर अपने संबोधन में स्पष्ट किया कि नैतिक और चारित्रिक दृढ़ता के बिना देश और समाज आगे नहीं बढ़ सकते। श्री गर्ग के सम्मान पर कहा कि हरियाणा के लिए गौरव की बात है कि ऐसी प्रतिभाओं को हम सम्मानित कर नैतिक मूल्यों को बल दे रहे हैं। 
अलवर राजस्थान के वरिष्ठ कवि संजय पाठक द्वारा प्रस्तुत प्रार्थना गीत के बाद चीफ ट्रस्टी डॉ रामनिवास मानव के प्रेरक सान्निध्य तथा डॉ पंकज गौड़ के कुशल संचालन में लगभग 4 घंटे चली इस संगोष्ठी में पूर्व प्राचार्य गजानन्द कौशिक तथा वरिष्ठ शिक्षाविद किशनलाल शर्मा ने विशिष्ट वक्ता के रूप में नैतिक शिक्षा के महत्व पर प्रकाश डालते हुए शिक्षा को जीवन आदर्शों और सांस्कृतिक मूल्यों से जोड़ने की वकालत की। इस अवसर पर ललित गर्ग ने आभार व्यक्त करते हुए शिक्षा में नैतिक मूल्यों को स्थापित करने की आवश्यकता व्यक्त की। 
अत्यंत महत्वपूर्ण और सामयिक विषय पर आयोजित इस विचारोत्तेजक संगोष्ठी में नेहरू युवा केंद्र के जिला समन्वयक महेंद्र नायक, लीड बैंक के जिला प्रबंधक श्रवणदेव पाठक, पीएनबी के प्रबंधक बी एस यादव, पार्षद तथा निगरानी समिति के अध्यक्ष महेंद्र सिंह गौड, हरियाणा व्यापार मंडल के जिला अध्यक्ष बजरंगलाल अग्रवाल, हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के पूर्व उप सचिव दुलीचंद शर्मा, ट्रस्टी डॉ कांता भारद्वाज, दिल्ली के गौरव गर्ग, बेला गर्ग, श्रुति गर्ग और पूजा अग्रवाल, महेंद्रगढ़ के प्रमोद शास्त्री, मुख्याध्यापक दिनेश दत्त और पार्षद मुंशीराम, बलदेव सिंह चहल, नारायण दत्त शर्मा, वीरसिंह यादव, जय शेखावत, रामानंद अग्रवाल, सत्यनारायण वर्मा, रामचंद्र यादव, धर्मवीर विद्यार्थी, नंदलाल खामपुरा, कृष्ण कुमार शर्मा, बनवारी लाल शर्मा एडवोकेट, हरमहेंद्र सिंह यादव, गंगा किशन जांगिड़, डॉ मेहताब सिंह यादव, कृष्ण अवतार जांगिड़, संजय कौशिक तथा पूर्व सरपंच राजकुमार शर्मा आदि गणमान्य नागरिकों की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

प्रेषकः 

(बरुण कुमार सिंह)
ए-56/ए, प्रथम तल, लाजपत नगर-2
नई दिल्ली-110024, मो. 9968126797

Leave a Reply

%d bloggers like this: