अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में स्वदेशी चिंतन

Posted On by & filed under टॉप स्टोरी

प्रमोद भार्गव शाह खर्च, गिरती औधोगिक उत्पादन दर, बढ़ती बेरोजगारी और विदेशी सामान से पटे अमेरिकी बाजार ने यहां कि अर्थव्यवस्था को डांवाडोल किया हुआ है। इसमें सिथरता लाने और मंदी से उबरने के उपाय अब अमेरिका के मौजूदा राष्ट्रपति बराक ओवामा महात्मा गांधी के स्वदेशी चिंतन में तालाश रहे है। अमेरिका में इस समय… Read more »

ओबामा की झोली भरी, पर हमें क्या मिला

Posted On by & filed under विश्ववार्ता

– प्रो. बृजकिशोर कुठियाला बराक ओबामा का अमरीका का राष्ट्रपति बनना अपने आप में एक विशेष घटना थी, क्योंकि वे अश्वेत हैं व उनके पुरखों की एक धारा इसाई नहीं है। श्वेत और इसाई बाहुल्य अमेरिका में यह घटना अपने आप में अद्वितीय है। परन्तु ओबामा अमेरिका के राष्ट्रपति हैं इसलिए अमेरिका ही उनके लिए… Read more »