Dr. Bhimrao Ambedkar

आंबेडकर ..पूना से उना तक

जब तक आप सामाजिक स्वतंत्रता हासिल नहीं कर लेते तब तक आपको कानून चाहे जो भी स्वतंत्रता देता है, वह आपके किसी काम की नहीं।बाबा आंबेडकर के ये विचार उस भारत के करोडों लोगों के लिए थे जिन्हें उन्होंने संविधान के जरिये कानूनन अधिकार तो दिए थे लेकिन सामाजिक अधिकार देना उनके वश में नही था।