ब्रह्मदीप अलुने

.राजनीति विज्ञान एवं अन्तर्राष्ट्रीय सम्बन्ध , शा. माधव कला, वाणिज्य एवं विधि महा. उज्जैन

आंबेडकर ..पूना से उना तक

जब तक आप सामाजिक स्वतंत्रता हासिल नहीं कर लेते तब तक आपको कानून चाहे जो भी स्वतंत्रता देता है, वह आपके किसी काम की नहीं।बाबा आंबेडकर के ये विचार उस भारत के करोडों लोगों के लिए थे जिन्हें उन्होंने संविधान के जरिये कानूनन अधिकार तो दिए थे लेकिन सामाजिक अधिकार देना उनके वश में नही था।

भारत पाक युद्ध और सैन्‍य मौर्चे पर तुलना

सैन्‍य तुलना में भारत के सामने पाकिस्‍तान कही नहीं ठहरता लेकिन वह हमेशा अपनी परमा‍णविक धौंस से ब्‍लेकमेल पर उतर आया है । अभी तक के चार युद्धों में उसे कही ना कही अमेरिकन समर्थन प्राप्‍त था लेकिन वर्तमान भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की शानदार कूटनीति ने पाकिस्‍तान से वह निर्णायक बढत भी छीन ली है ।