Dr. J Jayalalitha

‘अम्मा‘ के रूप में पूजी जाने वाली राजनेत्री

ऐसे बहुत कम सौभाग्यशाली होते हैं, जिन्हें एक पूरा राज्य और देश की बड़ी आबादी ‘अम्मा‘ कहकर पुकारे या ‘मां‘ मानकर पूजे। किंतु यह गंगा, सरस्वती या दुर्गा की तरह देवीतुल्य मान ली गईं मिथकों की पूजा नहीं है, बल्कि वर्तमान का यथार्थ है कि सिनेमा के पर्दे से संघर्श की शुरूआत करने वाली नायिका कैसे राजनीति के माध्यम से जन-सरोकरों से जुड़कर ‘अम्मा‘ कहलाने लग गईं।