लेखक परिचय

आर के रस्तोगी

आर के रस्तोगी

जन्म हिंडन नदी के किनारे बसे ग्राम सुराना जो कि गाज़ियाबाद जिले में है एक वैश्य परिवार में हुआ | इनकी शुरू की शिक्षा तीसरी कक्षा तक गोंव में हुई | बाद में डैकेती पड़ने के कारण इनका सारा परिवार मेरठ में आ गया वही पर इनकी शिक्षा पूरी हुई |प्रारम्भ से ही श्री रस्तोगी जी पढने लिखने में काफी होशियार ओर होनहार छात्र रहे और काव्य रचना करते रहे |आप डबल पोस्ट ग्रेजुएट (अर्थशास्त्र व कामर्स) में है तथा सी ए आई आई बी भी है जो बैंकिंग क्षेत्र में सबसे उच्चतम डिग्री है | हिंदी में विशेष रूचि रखते है ओर पिछले तीस वर्षो से लिख रहे है | ये व्यंगात्मक शैली में देश की परीस्थितियो पर कभी भी लिखने से नहीं चूकते | ये लन्दन भी रहे और वहाँ पर भी बैंको से सम्बंधित लेख लिखते रहे थे| आप भारतीय स्टेट बैंक से मुख्य प्रबन्धक पद से रिटायर हुए है | बैंक में भी हाउस मैगजीन के सम्पादक रहे और बैंक की बुक ऑफ़ इंस्ट्रक्शन का हिंदी में अनुवाद किया जो एक कठिन कार्य था| संपर्क : 9971006425

Posted On by &filed under कविता.


 

तीन तलाक़ का दौर खत्म हुआ,मिली है राहत मुस्लिम महिलाओं  को
गुलामियत का दौर ख़त्म हुआ,अब मिली है आजादी इन महिलाओं को

ये जीत हार का सवाल नहीं,ये सवाल  है मुस्लिम महिलाओ के अधिकारों का
जो सदियो से थी गुलाम अपने शोहर की,मांग कर रही थी अपने अधिकारों का

मुल्ला मोलवियो का अब दख्ल खत्म हुआ,जो शोषण कर रहे थे महिलाओ का
इज्जत की जिन्दगी ये जी सकेगी,शोषण न कर सकेगा कोई इन महिलाओ का

बराबर का दर्जा मिला इन महिलाओं को अब शोहर न दे सकेगा तलाक अब इनको
सभी तारीफ़ करेगी मुस्लिम महिलायें ,जब  कानून बनेगा और इंसाफ मिलेगा इनको

आर के रस्तोगी 

One Response to “तीन तलाक”

  1. Ramcharan gupta

    sarkar ko bahut chita hai muslim mahilao ki. pahle dusri mahilao ki vi chinta kar leni chahiye
    bil ko laya hi nahi gya aur aap ne likh diya lagu ho gya. yah ek fake News hai

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *