More
    Homeसाहित्‍यकविताकब गीता ने ये कहा, बोली कहाँ कुरान । -

    कब गीता ने ये कहा, बोली कहाँ कुरान । –


    जातिवाद और धर्म का, ये कैसा है दौर ।
    जय भारत,जय हिन्द में, गूँज रहा कुछ और ।।

    कब गीता ने ये कहा, बोली कहाँ कुरान ।
    करो धर्म के नाम पर, धरती लहूलुहान ।।

    गैया हिन्दू हो गई, औ’ बकरा इस्लाम ।
    पशुओं के भी हो गए, जाति-धर्म से नाम ।।

    जात-धर्म की फूट कर, बदल दिया परिवेश ।
    नेता जी सब दोगले, बेचें, खायें देश ।।

    भक्ति कृष्ण की है यही, और यही है धर्म ।
    स्थान,जरूरत, काल के, करो अनुरूप कर्म ।।

    सब पाखंडी हो गए, जनता, राजा, संत ।
    सौरभ रोये दखकर, धर्म-कर्म का अंत ।।

    पुण्य-धर्म को छोड़कर, करने लगे गुनाह ।
    ‘सौरभ’ लगे कठिन मुझे, अब आगे की राह ।।
    –@ सत्यवान ‘सौरभ’

    डॉ. सत्यवान सौरभ
    डॉ. सत्यवान सौरभ
    रिसर्च स्कॉलर इन पोलिटिकल साइंस, दिल्ली यूनिवर्सिटी, कवि,स्वतंत्र पत्रकार एवं स्तंभकार

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    * Copy This Password *

    * Type Or Paste Password Here *

    12,298 Spam Comments Blocked so far by Spam Free Wordpress

    Captcha verification failed!
    CAPTCHA user score failed. Please contact us!

    Must Read