लालू के पारिवारिक झगड़े को कौन दे रहा हवा!

मुरली मनोहर श्रीवास्तव
बि
हार की सियासत की धुरी रहे लालू प्रसाद यादव की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। बहुचर्चित चारा घोटाले में लालू अभी झारखंड के होटवार (रांची) जेल (फिलहाल इलाज के लिए रांची मेडिकल कॉलेज अस्पताल) में बंद हैं। उधर बीते लोकसभा चुनाव में उनकी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) का सूपड़ा साफ हो गया। अब बची-खुची कसर उनके पारिवारिक झगड़े ने निकाल दी है। दरअसल, पिछले साल जब लालू पैरोल पर पटना आए तो उन्होंने अपने बड़े बेटे तेजप्रताप यादव की शादी पूर्व मुख्यमंत्री स्व. दारोगा राय की पोती ऐश्वर्या से करा दी। ऐश्वर्या बिहार के पूर्व मंत्री और दबंग नेता चन्द्रिका राय की पुत्री हैं। विवाह समारोह धूमधाम से हुआ था। कई नामचीन हस्तियों के अलावा बिहार के सभी जिले के पार्टी नेताओं-कार्यकर्ताओं को शादी में निमंत्रण दिया गया था। हजारों लोग पहुंचे थे। कुछ दिनों तक तो सब ठीक-ठाक रहा। लेकिन साल बीतते-बीतते परिवार में कलह शुरू हो गया। दरअसल, लालू के बेटे तेजप्रताप कम पढ़े-लिखे और आजाद ख्याल स्वभाव के रहे हैं, जबकि ऐश्वर्या उच्च शिक्षित हैं। शुरुआत पति-पत्नी के बीच विवाद से हुई। हालत यहां तक पहुंच गई कि तेज प्रताप ने यह कहकर घर छोड़ दिया कि या तो घर में वह रहेंगे या ऐश्वर्या। दोनों का साथ रहना संभव नहीं है। तेजप्रताप ने अदालत में तलाक की अर्जी भी दे रखी है। फिलहाल वह विधायक होने के नाते मिले अपने सरकारी आवास में अकेले रह रहे हैं। ऐश्वर्या ने भी तेजप्रताप पर नशेड़ी होने का आरोप मढ़ दिया है। ये बातें मीडिया में भी आ चुकी हैं।बीते 29 सितम्बर को ऐश्वर्या रोते हुए राबड़ी देवी के सरकारी आवास से बाहर निकलीं। इस बीच ऐश्वर्या के पिता चन्द्रिका राय मीडिया को लेकर अपनी पत्नी के साथ वहां पहुंचे। ऐश्वर्या ने मीडिया को बताया कि मीसा भारती और राबड़ी देवी ने उन्हें घर से निकाल दिया है। चन्द्रिका राय ने कहा कि वह अपनी बेटी को हक दिलाने के लिए धरना पर बैठेंगे। विदित हो कि चन्द्रिका राय फिलहाल राजद के ही विधायक हैं। बाद में डीजीपी के दखल के बाद देर रात ऐश्वर्या की घर वापसी हुई। अब रविवार को फिर वही हुआ। ऐश्वर्या ने रोते हुए पत्रकारों को बताया कि उन्हें राबड़ी ने बाल खींचकर पीटा है और जबरन घर से निकाल दिया है। मौके पर चन्द्रिका राय भी अपनी पत्नी के साथ मौजूद थे। चन्द्रिका राय ने भी राबड़ी को खूब भला-बुरा कहा। उन्होंने कहा कि वे लालू परिवार की ईंट से ईंट बजा देंगे। फिलहाल ऐश्वर्या राय ने अपनी सास (राबड़ी देवी) पर प्रताड़ना का केस दर्ज कराकर घर के विवाद को एक नया मोड़ दे दिया है। राबड़ी देवी के ऊपर अपनी बहू से मारपीट और दहेज के लिए अक्सर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया गया है। मौके पर बड़ी संख्या में चंद्रिका राय के समर्थक पहुंच गए और लालू-राबड़ी मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे। चंद्रिका राय ने तो इतना तक कह दिया कि बिहार में विपक्ष किसी काम का नहीं है। इतना बड़ा मामला हो गया और कोई कुछ जवाब क्यों नहीं दे रहा है? जवाब दे भी तो कैसे? मामला तो उसके घर से ही जुड़ा हुआ है। इस पूरे घटनाक्रम के दौरान राजद नेता तेजस्वी यादव रांची में थे। पहले तो वे इस मामले पर बोलने से बचते रहे और फिर बोले तो बहुत बड़ी बात कह गए। उन्होंने इस मामले में सूबे के मुखिया के इशारे पर फेमिली ड्रामा होने का आरोप मढ़ दिया।इस पूरे मामले में सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि अगर यह राजनीतिक मामला नहीं है तो घर में हुए फेमिली ड्रामे की खबर आखिर मीडिया को कैसे मिली? मीडिया के सामने ही इस पूरे मामले को तूल क्यों दिया गया? इसी साल 29 सितम्बर को हाई वोल्टेज ड्रामे के बाद ऐश्वर्या अपने ससुराल आयी थीं। सबकुछ ठीक चल रहा था। तेजप्रताप इस पूरे प्रकरण से खुद को दूर कर अपनी डफली अपना राग अलाप रहे हैं। लालू जी खुद को जेल से बाहर होने के लिए इमोशनल ट्वीट कर रहे हैं। तेजस्वी अपने राजनीतिक कद को बढ़ाने के लिए लगातार कोशिश कर रहे हैं और बिहार की सियासत में खुद को स्थापित करने के लिए नित नए प्रयोग भी कर रहे हैं। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को तेजस्वी हर बार टार्गेट करने की कोशिश कर रहे हैं। तेजस्वी अपने फेमिली ड्रामा के पीछे भी नीतीश कुमार को ही दोषी मान रहे हैं। तेजस्वी इस मामले में अगर नीतीश कुमार को फंसा रहे हैं तो यह भी तो तय है कि जब राजद के लोग अपने पारिवारिक स्थिति को संभालने में असमर्थ हैं तो सूबे की सत्ता को कैसे संभाल सकते हैं? बिहार की सियासत को आप कई नजरिये से देख सकते हैं। अगर यह फेमिली ड्रामा है तो यह बाहर कैसे आया? अगर यह राजनीतिक ड्रामा है तो निश्चित तौर पर राजद के लिए टूट का संकेत भी हो सकता है। इसका फायदा भाजपा या जदयू को मिल सकता है। बिहार में महागठबंधन में सबसे मजबूत दल राजद है। राजद का किंग जेल की सलाखों के पीछे है। इसका फायदा विपक्षी जरूर उठाना चाहेंगे। इसमें कोई दो मत नहीं है। लेकिन इस ड्रामे ने स्पष्ट कर दिया है कि चंद्रिका राय और उनकी फेमिली राजद पर काबिज नहीं हो पाए तो राजद की टूट की वजह जरूर बन सकते हैं। ऐसा इसलिए कि ऐश्वर्या ने खुलकर मीडिया के सामने कहा कि ‘मैं भी यादव कास्ट से ही बिलौंग करती हूं।’ बहरहाल, घर की बहू ऐश्वर्या का अचानक बागी हो जाना राबड़ी परिवार के लिए बड़ी मुश्किल है। 

Leave a Reply

%d bloggers like this: