More
    Homeराजनीतिगंगा एक्सप्रेस वे से निकलेगी योगी के दूसरे कार्यकाल की राह ?

    गंगा एक्सप्रेस वे से निकलेगी योगी के दूसरे कार्यकाल की राह ?

    डॉ॰ राकेश कुमार आर्य

    गाजियाबाद। (ब्यूरो डेस्क)’यूपी और योगी है बहुत उपयोगी’ – का नया नारा देकर प्रधानमंत्री मोदी ने स्पष्ट संकेत दे दिया है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा का आगामी चुनाव मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा। बात आरएसएस की करें तो वहां से भी यह स्पष्ट संकेत मिल चुके हैं कि संघ योगी के कार्यों से संतुष्ट है और उन्हें उत्तर प्रदेश के लिए एक और मौका देने पर उसे कोई आपत्ति नहीं है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यूपी के शाहजहांपुर में प्रदेश के सबसे लंबे गंगा एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास करते हुए उपरोक्त नारा देकर अपने मन की बात कह दी। इस दौरान योगी सरकार के कामों का बखान किया और नारा दिया, ‘यूपी + योगी = बहुत है उपयोगी’। पीएम ने कहा, आज जब उस माफिया पर बुल्डोजर चलता है, बुल्डोजर तो गैर-कानूनी इमारत पर चलता है, लेकिन दर्द उसे पालने-पोसने वाले को होता है। इसीलिए आज यूपी की जनता कह रही है – ‘UP+Yogi’ बहुत है उपयोगी।
    पीएम ने स्पष्ट कर दिया कि योगी से पहले सपा की सरकार उत्तर प्रदेश में भू माफिया, गुंडागर्दी और असामाजिक तत्वों को प्रोत्साहन देती थी। पार्टी के कार्यकर्ता भी असामाजिक तत्वों के साथ सांठगांठ करके गैर कानूनी कार्य करते थे और लोगों की संपत्ति को हड़पने पर अपना अधिकार मानते थे। उन्होंने अपने भाषण में यह स्पष्ट किया कि योगी के आने पर प्रदेश से प्रत्येक प्रकार की गुंडागर्दी खत्म हुई है। जिससे आम आदमी को बड़ी राहत मिली है प्रदेश में महिलाएं किसी भी समय आ जा सकती हैं अब उनकी इज्जत के लिए कोई खतरा नहीं है।
    प्रधानमंत्री मोदी के इस प्रकार के संबोधन से स्पष्ट हो जाता है कि भाजपा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यों को लेकर ही अगला विधानसभा चुनाव लड़ेगी। वर्तमान परिदृश्य में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अपने इन कार्यों का लाभ मिलता हुआ भी दिखाई दे रहा है।
    पीएम ने अपने संबोधन के शुरू में कहा, ‘संयोग से कल ही प. राम प्रसाद बिस्मिल, अशफाक उल्ला खां और ठाकुर रोशन सिंह का बलिदान दिवस भी है। अंग्रेजी सत्ता को चुनौती देने वाले शाहजहांपुर के इन तीनों सपूतों को 19 दिसंबर को फांसी दी गई थी। भारत की आजादी के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर कर देने वाले ऐसे वीरों का हम पर बहुत बड़ा कर्ज है। माँ गंगा सारे मंगलों की, सारी उन्नति प्रगति की स्रोत हैं। मां गंगा सारे सुख देती हैं, और सारी पीड़ा हर लेती हैं। ऐसे ही गंगा एक्सप्रेसवे भी यूपी की प्रगति के नए द्वार खोलेगा। आज शाहजहांपुर में ऐसा ही पुण्य और ऐतिहासिक अवसर है। आज उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े एक्सप्रेस वे यानि #गंगा_एक्सप्रेसवे पर काम शुरू हो रहा है। करीब 600 किमी के इस एक्सप्रेसवे पर करीब 36,000 करोड़ रु से अधिक खर्च किए जाएंगे।’
    पीएम ने आगे कहा, ये जो आज यूपी में एक्सप्रेसवे का जाल बिछ रहा है, जो नए एयरपोर्ट बनाए जा रहे हैं, नए रेलवे रूट बन रहे हैं, वो यूपी के लोगों के लिए अनेक वरदान एक साथ लेकर आ रहे हैं। पहला वरदान- लोगों के समय की बचत। दूसरा वरदान- लोगों की सहूलियत में बढ़ोतरी, सुविधा में बढ़ोतरी। तीसरा वरदान- यूपी के संसाधनों का सही उपयोग। चौथा वरदान- यूपी के सामर्थ्य में वृद्धि। पांचवा वरदान- यूपी में चौतरफा समृद्धि।
    ‘यूपी को चलाने के लिए जिस दमखम की जरूरत है, जिस दमदार काम की जरूरत है, वो आज डबल इंजन की सरकार करके दिखा रही है। वो दिन दूर नहीं जब यूपी की पहचान next generation infrastructure वाले सबसे आधुनिक राज्य के रूप में होगी। यूपी में आज जो आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण हो रहा है वो ये दिखाता है कि संसाधनों का सही उपयोग कैसे किया जाता है। पहले जनता के पैसे का क्या-क्या इस्तेमाल हुआ है ये आप लोगों ने भली-भांति देखा है।’
    भविष्य में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कार्गो कंटेनर वाराणसी के ड्राई पोर्ट के माध्यम सीधे हल्दिया पोर्ट तक भेजे जा सकेंगे। यानि गंगा एक्सप्रेस वे से उपज पैदा करने वालों को, उद्योगों को, उत्पादन में लगे सभी छोटे कारोबारियों को, मेहनतकश नागरिकों को लाभ होगा।
    पुराने दिनों को, पुराने काम-काज को याद कीजिए, आपको साफ-साफ नजर आएगा, कि अब यूपी में भेदभाव नहीं, सबका भला होता है। 5 साल पहले राज्य के कुछ इलाकों को छोड़कर, दूसरे शहरों, गांवों-देहातों में बिजली ढूंढने से नहीं मिलती थी। डबल इंजन की सरकार ने ना सिर्फ यूपी में करीब 80 लाख मुफ्त बिजली कनेक्शन दिए, बल्कि हर जिले को पहले से कई गुना ज्यादा बिजली दी जा रही है।
    हमारी सरकार दिन-रात गरीबों के लिए काम करती है। हमारी सरकार ने यूपी में 30 लाख से ज्यादा गरीबों को पक्के घर बनाकर दिए हैं। जब खुद का पक्का घर बनता है, तो सम्मान से जीने का मन करता है, माथा ऊंचा होता है, सीना चौड़ा होता है, गरीब को भी देश के लिए कुछ करने की इच्छा होती है।

    राकेश कुमार आर्य
    राकेश कुमार आर्यhttps://www.pravakta.com/author/rakesharyaprawakta-com
    उगता भारत’ साप्ताहिक / दैनिक समाचारपत्र के संपादक; बी.ए. ,एलएल.बी. तक की शिक्षा, पेशे से अधिवक्ता। राकेश आर्य जी कई वर्षों से देश के विभिन्न पत्र पत्रिकाओं में स्वतंत्र लेखन कर रहे हैं। अब तक चालीस से अधिक पुस्तकों का लेखन कर चुके हैं। वर्तमान में ' 'राष्ट्रीय प्रेस महासंघ ' के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं । उत्कृष्ट लेखन के लिए राजस्थान के राज्यपाल श्री कल्याण सिंह जी सहित कई संस्थाओं द्वारा सम्मानित किए जा चुके हैं । सामाजिक रूप से सक्रिय राकेश जी अखिल भारत हिन्दू महासभा के वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और अखिल भारतीय मानवाधिकार निगरानी समिति के राष्ट्रीय सलाहकार भी हैं। ग्रेटर नोएडा , जनपद गौतमबुध नगर दादरी, उ.प्र. के निवासी हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Must Read

    spot_img