मेरे प्यार की कश्ती को तुम यूही पार लगा देना

मेरे प्यार की कश्ती को ,तुम यूही पार लगा देना
जब आये कोई तूफान,मेरे प्यार को यूही बचा लेना

जिंदगी मे आते रहेगे, तूफान हर मोड पर
मुझे कही छोड़ न देना किसी टेढ़े मोड पर

मैने पकड़ा है हाथ तुम्हारा जिंदगी भर के लिए
कही छुडा न देना मेरा हाथ किसी और के लिए

दिल दिया है जान भी दे दूंगी,जरा अजमा कर देखो
हर इम्तहान मे पास निकलूगी जरा इम्तहान ले कर देखो

खोजा है आपको दिल की रोशनी से सारी दुनिया को भुलाकर
मुझे अंधरे मे न छोड़ देना,इस सारी दुनिया का गम पीला कर

मै जब तुमसे रुकसत लू यूही मेरे जनाजे को हाथ लगा देना
मेरे प्यार की कश्ती  को उठा कर अपने कंधो पर उठा लेना

आर के रस्तोगी

Leave a Reply

%d bloggers like this: