लेखक परिचय

संजीव कुमार सिन्‍हा

संजीव कुमार सिन्‍हा

2 जनवरी, 1978 को पुपरी, बिहार में जन्म। दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक कला और गुरू जंभेश्वर विश्वविद्यालय से जनसंचार में स्नातकोत्तर की डिग्रियां हासिल कीं। दर्जन भर पुस्तकों का संपादन। राजनीतिक और सामाजिक मुद्दों पर नियमित लेखन। पेंटिंग का शौक। छात्र आंदोलन में एक दशक तक सक्रिय। जनांदोलनों में बराबर भागीदारी। मोबाइल न. 9868964804 संप्रति: संपादक, प्रवक्‍ता डॉट कॉम

Posted On by &filed under विविधा.


विचार पोर्टल ‘प्रवक्‍ता डॉट कॉम’ द्वारा गत अक्‍टूबर महीने में आयोजित ऑनलाइन लेख प्रतियोगिता में उमेश चतुर्वेदी ने प्रथम और अनिल कुमार बैनिवाल ने द्वितीय स्‍थान प्राप्‍त किया है।

विदित हो कि 16 अक्‍टूबर 2009 से ‘प्रवक्‍ता डॉट कॉम’ का सफर अनवरत जारी है। प्रवक्‍ता ‘’पाठकों द्वारा, पाठकों के लिए और पाठकों का’’ मुक्‍त मंच है। समसामयिक मुद्दों पर विचारशील लेख तो हम प्रस्‍तुत करते ही हैं, गत एक साल से अनेक सम-सामयिक विषयों पर परिचर्चा का आयोजन कर पाठकों के बीच जन-जागरण का भी काम कर रहे हैं, जिसमें पाठकों की सहभागिता उल्‍लेखनीय होती है।

‘प्रवक्‍ता डॉट कॉम’ के दो साल पूरे होने पर हमने पाठकों की रुचि बढ़ाने और वेब-पत्रकारिता को सशक्‍त बनाने की दृष्टि से एक ऑनलाइन लेख प्रतियोगिता आयोजित करने का निश्‍चय किया। विषय था- ‘वेब पत्रकारिता : संभावनाएं एवं चुनौतियां। दो पुरस्‍कार देने का तय किया। प्रथम पुरस्‍कार- रू. 1500/- और द्वितीय पुरस्‍कार- रू. 1100/-

प्रतियोगिता को लेकर हम ज्‍यादा प्रचार-प्रसार नहीं कर पाए। केवल प्रवक्‍ता पर ही जानकारी प्रस्‍तुत की। कुल 10 लेख आए। पहले सोचा था कि मैं स्‍वयं ही लेखों का मूल्‍यांकन कर दूंगा, लेकिन जब लेख पढ़ना शुरू किया तो विषय-वस्‍तु की गुणवत्ता देखकर मुझे ऐसा लगा कि कहीं लेखों के साथ अन्‍याय न हो जाए। हमने तुरंत प्रवक्‍ता के दो वरिष्‍ठ लेखकों, कोलकाता विश्‍वविद्यालय में हिंदी के प्रोफेसर श्री जगदीश्‍वर चतुर्वेदी और माखनलाल राष्‍ट्रीय पत्रकारिता विश्‍वविद्यालय में जनसंचार विभाग के अध्‍यक्ष श्री संजय द्विवेदी, से निर्णायक मंडल में शामिल होने का अनुरोध किया। दोनों महानुभावों की अनुमति हमें सहर्ष मिल गई और उन्‍होंने समय से हमें अपने निर्णय से अवगत करा दिया। हम उनके प्रति आभार प्रकट करते हैं। प्रतियोगिता आयोजित करने को लेकर प्रवक्‍ता डॉट कॉम के प्रबंधक श्री भारत भूषण के सहयोग के लिए भी हम उनके आभारी हैं। इसके साथ ही सभी प्रतियोगी लेखकगण भी धन्‍यवाद के पात्र हैं।

मीडिया के सभी अनुशासनों का गुण समाहित कर वेब-पत्रकारिता नित नए सोपान रच रहा है। त्‍वरित दोतरफा संवाद का यह अनूठा माध्‍यम सस्‍ता, सरल और पर्यावरण की दृष्टि से भी अनुकूल है। वेब-पत्रकारिता अभी प्रारंभिक दौर में है लेकिन यही आगामी दिनों की पत्रकारिता है।

विजेताओं को ‘प्रवक्‍ता डॉट कॉम’ की ओर से हार्दिक बधाई एवं शुभकामना।

आप भी इन्‍हें इमेल के जरिए बधाई दे सकते हैं :

प्रथम स्‍थान – उमेश चतुर्वेदी : uchaturvedi@gmail.com

द्वितीय स्‍थान- अनिल कुमार बैनिवाल : anilbeniwalmmc@gmail.com

Leave a Reply

20 Comments on "प्रवक्‍ता लेख प्रतियोगिता में उमेश चतुर्वेदी प्रथम और अनिल कुमार बैनिवाल को द्वितीय स्‍थान"

Notify of
avatar
Sort by:   newest | oldest | most voted
pramod
Guest

सभी प्रतियोगिता जीतने वाले भाइयो को ढेर सारी
BADHAI

Jeet Bhargava
Guest

बधाई हो दोनों को!!

Satya singh rathore
Guest

प्रवक्ता.कॉम की सामग्री
विचारोत्तेजक है . समय आगया है , देश के लिए कुछ करने का. हर युवा आवाज उठाए देश के लिए.

vimlesh
Guest

दोनों ही विजेताओं को मेरी हार्दिक शुभकामनाये

ऐसे ही अक्टिव रहने की कामना .

sunil patel
Guest

श्री उमेश जी और श्री अनिल जी को बहुत बधाई. इस व्यस्तता के समय में भी इन्होने इतना बढ़िया लेख लिखे. फिर से हार्दिक बधाई.

wpDiscuz