लेखक परिचय

प्रवक्‍ता ब्यूरो

प्रवक्‍ता ब्यूरो

Posted On by &filed under विविधा.


दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय का एक प्रतिभाशाली शोध-छात्र अपने विभागाध्‍यक्ष के अहंकार का शिकार हो रहा है।

जी हां, यह घटना दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय के सामाजिक विज्ञान संस्‍थान के अफ्रीकन स्‍टडीज की है। इस संस्‍थान के शोध-छात्र सौरभ ज्‍योति शर्मा, जिनके शोध का विषय है ‘अफ्रीका में चीन की सैन्‍य कूटनीति’, ने अपने विभागाध्‍यक्ष सुरेश कुमार पर अपने कॅरियर से खिलवाड करने का आरोप लगाया है। सौरभ का कहना है, ‘विभागाध्‍यक्ष सुरेश कुमार जान-बूझकर मेरे डेजर्टेशन को स्‍वीकृत(पास) नहीं कर रहे हैं ताकि मेरा रिसर्च फेलोशिप रूक जाए और मैं आगे प्रवेश से वंचित हो जाऊं।’ सौरभ ने बताया कि उनके अविवेकपूर्ण रवैय्ये ने मेरे शैक्षिक कैरियर को अंधकार में डाल दिया है।

सौरभ ने कहा कि मेरे गाइड ने मेरा डेजर्टेशन पास कर दिया है, लेकिन काफी समय बीत जाने के बाद भी विभागाध्‍यक्ष सुरेश कुमार ने अपनी स्‍वीकृति नहीं दी है और वे मिलने से भी इनकार कर रहे हैं। उन्‍होंने बताया कि मैंने इस बारे में डीन सोशल साइंस और उपकुल‍पति से शिकायत की है और अब न्‍याय का इंतजार कर रहा हूं।

‘प्रवक्‍ता’ के प्रतिनिधि ने विभागाध्‍यक्ष सुरेश कुमार से दूरभाष पर सम्‍पर्क करने की कोशिश की, लेकिन उन्‍होंने बात करने से इनकार कर दिया।

Leave a Reply

1 Comment on "अफ्रीकन स्‍टडीज के विभागाध्‍यक्ष पर शोधार्थी के शैक्षिक कैरियर से खिलवाड करने का आरोप"

Notify of
avatar
Sort by:   newest | oldest | most voted
Jeet Bhargava
Guest

शायद विभागाध्यक्ष को आपत्ति होगी की शोधार्थी ने चीन की कूटनीति पर ही शोध क्यों किया??

wpDiscuz