लेखक परिचय

लक्ष्मी नारायण लहरे कोसीर पत्रकार

लक्ष्मी नारायण लहरे कोसीर पत्रकार

स्वतंत्र वेब लेखक व ब्लॉगर

Posted On by &filed under कविता.


 आपना पन कहें या दोस्ताना

अजीब चाहत है

इस जीवन में

सिर्फ संघर्ष भरी राहें है

अपनों के बीच भी हम अकेले है

एक -दुसरे के प्रेम से बंध कर

स्वार्थ भरी जीवन जी रहे है

जिन्दगी ….. की जंग में

भाई -भाई को नहीं समझता

माँ -बाप को नही पहचानते

स्वार्थ ,भरी जीवन जी रहे है

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz