बाल श्रम समाज के मुंह पर शर्मनाक थप्पड़

Posted On by & filed under समाज

-अनिल अनूप माँ के आँचल तले संतुष्टि से सोना की चाहे दुनिया की कोई ताकत आए में महफूज़ हूँ. पर बाल श्रमिक के लिए शायद ये सब सोचना भी फ़िज़ूल हैं. भोपाल के रेल्वे प्लेटफॉर्म पर पॉपकार्न बेचने वाला विनोद अब यह भी नहीं जानता कि उसका घर कहां है ? विनोद अभी सात साल… Read more »

बाल श्रम के कलंक से मुक्ति कब?

Posted On by & filed under बच्चों का पन्ना, समाज

स्निग्धा श्रीवास्तव मैं उसका नाम नहीं जानती। लेकिन अकसर अपने घर से मेट्रो तक आने-जाने के दौरान उसे सड़कों से पालीथिन, कागज, प्लास्टिक और लोहे के टुकड़ों को बीनते देखती हूं। अगर हम अपने आसपास नजर दौड़ाएं, तो रेस्टोरेंट, ढाबों, दुकानों और अन्य जगहों पर बच्चे काम करते हुए मिल जाएंगे। चौदह साल से कम… Read more »

बाल श्रम प्रतिबंधित करना अच्छा कदम मगर इससे जुड़े दूसरे पक्ष का क्या..?

Posted On by & filed under समाज

 सिद्धार्थ शंकर गौतम अब किसी चाय के ठेले पर छोटू नहीं दिखेगा या कोई बच्चा आपकी गाड़ी की सफाई नहीं करेगा| दरअसल केंद्र सरकार ने चौदह साल से कम उम्र के बच्चों से काम करवाने पर पूरी तरह से प्रतिबंध को हरी झंडी दे दी है। ऐसा करने वाले को अब अधिकतम तीन साल की… Read more »