बकरे की माँ कब तक खैर मनाएगी?

Posted On by & filed under व्यंग्य

एल. आर गाँधी भारत में प्रत्येक ‘बकरे’ को पांच साल बाद ‘अपना कसाई ‘ बदलने का अधिकार है. पांच राज्यों के बकरे अपने ‘कसाईयों ‘ की कारगुजारी को तौल रहे हैं … कौन झटक देगा या हलाल करेगा ? सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश के ‘ बकरों’ को बहिन जी से गिला है की पिछले… Read more »

आम आदमी की हड्डी पर कबड्डी क्यों ?

Posted On by & filed under लेख

राजीव गुप्ता दिल्ली की सडको पर भीख मांगने वाले सभी लोग उत्तर प्रदेश के है , यह कहना है कांग्रेस पार्टी के तथाकथित युवराज राहुल गांधी जी का जो कि गरीबी को जानने के लिए एवं सस्ती राजनैतिक लोकप्रियता हासिल करने के लिए दलितों के घर कभी रात बिताते है तो कभी मनरेगा में काम… Read more »

ना आम आदमी की तकदीर बदलना है और ना ही प्रदेश की तस्वीर

Posted On by & filed under प्रवक्ता न्यूज़

सिवनी। प्रदेश भाजपा की कार्यसमिति की बालाघाट बैठक में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने नगरीय चुनावों की पूर्व संध्या पर प्रदेश की तस्वीर और तकदीर बदलने का नया नार दिया हैं। सत्ता तुम बदलो व्यवस्था हम बदलेंगें का नारा देकर उमा भारती ने दस सालों से चल रही दिग्गी सरकार को सड़क,पानी और बिजली के मुद्दे… Read more »