पश्चिम बंगाल में जब सीपीएम का शासन रहा तब तक साम्प्रदायिक दंगे क्यों नहीं हुए ?

Posted On by & filed under टॉप स्टोरी, राजनीति

भारत में जिन लोगों ने धर्मनिरपेक्षता ,समाजवाद और लोकतंत्र का झंडा मजबूती से थमा रखा है  और इन मूल्यों के लिए क़ुर्बानियाँ दे रहे हैं ,उनमे वामपंथी सबसे आगे हैं। इसके विपरीत जो लोग संविधान के मूल सिद्धांत-धर्मनिरपेक्षता समाजवाद  और लोकतंत्र को ध्वस्त करने की  निरंतर फिराक में रहते हैं ,उनमे घोर  जातीयतावादी और असहिष्णु -साम्पर्दयिकतावादी संगठन  सबसे आगे… Read more »