एयर स्ट्राईक : हर भारतीय की भावना का सम्मान

                                                                                                                                        पाकिस्तान के घर में घुसकर एयर स्ट्राईक कर बड़ी संख्या में आतंकवादी कैम्प और आतंकियों का खात्मा कर वायुसेना ने हर भारतीय की भावना का सम्मान किया है जो पुलवामा हमले के बाद से प्रखर हुई थी । पुलवामा हमले में शहीद हुये जवानों को आज सच्ची श्रद्धांजली मिली है और पाकिस्तान को करारा जवाब कि भारत अपनी अस्मिता पर हमले के बाद अब चुप बैठने वाला नहीं है । 12 दिनां तक कूटनीतिक फैंसले एवं पूर्ण संयम से की इस कार्यवाही के आदेश, पूर्ण निगरानी एवं नैतृत्व के लिये निश्चित रूप से भारतीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी प्रशंशा के पात्र हैं । भारत सरकार की दृढ इच्छाशक्ति और बिना अनुमति के इस स्तर की कोई कार्यवाही नहीं की जा सकती है । कार्यवाही सटीक और सुरक्षित रही इसके लिये वायुसेना के जवान एयर स्ट्राईक के असली हीरो हैं ।
इस समय देश में प्रधानमंत्री और सेना के लिये बधाईयों का दौर है । वहीं दूसरी और बहुत से अतिउत्साहित बीजेपी समर्थक विपक्षी दलों पर अनावश्यक टिप्पणियाँ एवं तंजों से अपनी एफबी वॉल भर दे रहे हैं । ऐसे लोगों को यह याद रखना जरूरी है कि पुलवामा हमले के बाद से ही कॉग्रेस सहित तमाम विपक्षी दलों ने इसे देश की अस्मिता पर हमला बताया था और सारे राजनैतिक विरोध पीछे छोड़कर अपने देश के प्रधानमंत्री के साथ खड़े हो गये थे । कोई भी सरकार इस प्रकार की जवाबी कार्यवाहीं का निर्णय बिना विपक्ष को विश्वास में लिये नहीं कर सकती है, मोदी सरकार ने इसका पालन किया और सर्वदलीय बैठक आहुत की गयी । जिसमें दल प्रमुखों ने पाकिस्तान के प्रति संभावित कार्यवाही में प्रधानमंत्री के निर्णय में अपनी सहमति जतायी । यह अलग बात रही कि बाद में कॉंग्रेस ने पुलवामा अटैक के बाद प्रधानमंत्री की दिनचर्या पर सवाल उठाये । लेकिन यह देश की अंदरूनी राजनीति का एक हिस्सा भर था ।
पाकिस्तान को कठोर जवाब देने की मॉग हर दल ने की और एयर स्ट्राईक के बाद सभी ने सेना के साथ पूरे देश को इसकी बधाई देते हुये हर्ष भी व्यक्त किया। लेकिन बहुत से बीजेपी समर्थक शोशल मीडिया पर मोदी सरकार को बधाई देने के साथ ही इन विपक्षी दलों के नेताओं पर तंज कसते हुये पोस्ट कर रहे हैं । इससे शाम होते-होते विपक्षी दलों के कार्यकर्ता भी खुलकर उनका जवाब देने पर उतर आये। भारत की यह जीत अब व्यक्ति और दलों में बंटकर रह गयी । पार्टियों के समर्थक आपस में ही शोशलवार में व्यस्त हो गये हैं ।
हमें यह याद रखना चाहिये कि एयर स्ट्राईक के बाद पाकिस्तान में हड़कम्प मचा हुआ है । वहाँ की सरकार पर भंयकर दवाब है कि वह इसकी प्रतिक्रिया में कुछ बड़ा करे । चूंकि वहाँ सरकार से ज्यादा चरमपंथियों का प्रभाव ज्यादा है इसलिये उनकी बेवकूफी के प्रति हमें सर्तक और संगठित रहने की आवश्यकता भी है । पाकिस्तानी आतंकवाद के प्रति लड़ाई खत्म नहीं हो गयी है बल्कि अभी तो शुरू ही हुई है । सरकार इस बात को जानती है । इस समय पूरे देश को एक साथ एकजुट होकर ज्यादा सर्तक रहने की आवश्यकता है । इसीलिये आगामी रणनीति पर िंचंतन के लिये सरकार एयर स्ट्राईक के बाद भी सर्वदलीय बैठक बुलायगी। इस समय पार्टी और व्यक्तिवाद के भेद भुलाकर एक राष्ट्र में तब्दील होने की जरूरत है । उत्साहित समर्थकों को यह समझना होगा और अपनी भाषा पर संयम भी रखना होगा ।
आने वाले कुछ दिन बेहद अप्रत्याशित हो सकते हैं । हमें अपने आस पास के लोगों का सहयोगी बनना है न कि राजनैतिक प्रतिद्वंदी बनकर उनका मखोल उड़ाना है । बात को समझिये इस समय देश पहले है, व्यक्ति बाद में है, चाहे वह इंदिरा हो या नरेन्द्र मोदी………………

-जगदीश वर्मा ‘समन्दर’

Leave a Reply

%d bloggers like this: