सुरभी

आप अभी रांची, झारखण्ड में छात्रा है, कविताएं लिखना आपका शौक, दुनिया बदलने कि ख्वाइश रखती हैं…

स्वदेशी से स्वावलंबन तक – सुरभि दूबे

योगऋषि स्वामी रामदेव जी महाराज का देश को स्वावलम्बन तक ले जाने का जो प्रयाश है वह सचमुच सराहनीय है. आज जब पुरा देश विनाश की राह पर चल पडा है तब स्वामी जी ने…