डॉ. कुलदीप चन्‍द अग्निहोत्री

यायावर प्रकृति के डॉ. अग्निहोत्री अनेक देशों की यात्रा कर चुके हैं। उनकी लगभग 15 पुस्‍तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। पेशे से शिक्षक, कर्म से समाजसेवी और उपक्रम से पत्रकार अग्निहोत्रीजी हिमाचल प्रदेश विश्‍वविद्यालय में निदेशक भी रहे। आपातकाल में जेल में रहे। भारत-तिब्‍बत सहयोग मंच के राष्‍ट्रीय संयोजक के नाते तिब्‍बत समस्‍या का गंभीर अध्‍ययन। कुछ समय तक हिंदी दैनिक जनसत्‍ता से भी जुडे रहे। संप्रति देश की प्रसिद्ध संवाद समिति हिंदुस्‍थान समाचार से जुडे हुए हैं।

कश्मीर घाटी में तनाव की कोशिश और महबूबा मुफ़्ती का रुदाली रोदन

- डा० कुलदीप चन्द अग्निहोत्री              जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 की समाप्ति अनेक देशी...

राष्ट्रवादी शक्तियों के विरोध में विपक्ष कहाँ तक जा सकता है

— डा० कुलदीप चन्द अग्निहोत्रीपिछले दिनों लंदन में किसी सैयद शुजा ने लंदन की एक प्रेस कान्फ्रेंस में कहा कि...

सैफ़ुद्दीन सोज़ की किताब के बहाने , कश्मीर समस्या की जड़ की खोज– डा० कुलदीप चन्द अग्निहोत्री

डा० कुलदीप चन्द अग्निहोत्री जून के अंतिम दिनों में सोनिया कांग्रेस के एक बड़े नेता सैफ़ुद्दीन सोज़ की जम्मू कश्मीर...

जम्मू कश्मीर सरकार का अन्त और बकरा विचारधारा की प्रासांगिकता

डा० कुलदीप चन्द अग्निहोत्री जम्मू कश्मीर सरकार का अन्त में अन्त हो ही गया । भारतीय जनता पार्टी ने पीडीपी...

जम्मू कश्मीर सरकार का अन्त और बकरा विचारधारा की प्रासंगिकता

डा० कुलदीप चन्द अग्निहोत्री जम्मू कश्मीर सरकार का अन्त में अन्त हो ही गया । भारतीय जनता पार्टी ने पीडीपी...

कर्नाटक के विधान सभा और पश्चिमी बंगाल के चुनाव परिणामों का निहितार्थ-

प्रो.कुलदीप चन्द अग्निहोत्री कर्नाटक के घटनाक्रम को तीन हिस्सों में बाँटा जा सकता है । पहला हिस्सा विधान सभा के...

मंगोलिया के सांस्कृतिक पुनर्जागरण में कुशोक बकुला रिम्पोछे का योगदान

डा० कुलदीप चन्द अग्निहोत्री यह कथा अढाई हज़ार साल से भी पुरानी है । यह महात्मा बुद्ध के काल की...

जम्मू कश्मीर के इतिहास का एक भूला हुआ अध्याय

डा० कुलदीप चन्द अग्निहोत्री पंडित जवाहर लाल नेहरु 1949 में लद्दाख आए थे । लद्दाख में उनकी मुलाक़ात उन्नीसवें कुशोग...

अयोध्या की दीवाली और टीपू सुल्तान की जयन्ती

डा० कुलदीप चन्द अग्निहोत्री दीवाली की शुरुआत आज से लगभग पौने दो लाख साल पहले त्रेता युग में अयोध्या से...

20 queries in 0.386