मनमोहन आर्य

स्वतंत्र लेखक व् वेब टिप्पणीकार

“भौतिकवाद से हमारी मानवीय संवेदनायें घटती हैं जिन्हें आध्यात्मिकता से सन्तुलित कर जीवन को सुखी बना सकते हैं”

मनमोहन कुमार आर्य, भौतिकवाद आध्यात्मवाद का विलोम शब्द है। पृथिवी, अग्नि, जल, वायु और आकाश

‘‘हितकारी प्रकाशन समिति, हिण्डोन सिटी द्वारा सम्मान के लिये हार्दिक धन्यवाद’’

-मनमोहन कुमार आर्य, ऋषि-भक्त आर्य-श्रेष्ठ श्री प्रभाकरदेव आर्य जी विगत लगभग 25 वर्षों से दुलर्भ,

‘हमारे श्रद्धास्पद विद्वान मित्र डाॅ. कृष्ण कान्त वैदिक और उनका संक्षिप्त परिचय’

मनमोहन कुमार आर्य, देहरादून में सम्प्रति अनेक ऋषि भक्त विद्वान एवं विदुषियां हैं जो अपने

गुरुकुल पौंधा-देहरादून में 21 नये ब्रह्मचारियों के उपनयन एवं वेदारम्भ संस्कार सोल्लास सम्पन्न”

–मनमोहन कुमार आर्य,  आर्ष गुरुकुल पौंधा-देहरादून में आज दिनांक 25 अगस्त, 2018 को 21 नये