डॉ. मधुसूदन

मधुसूदनजी तकनीकी (Engineering) में एम.एस. तथा पी.एच.डी. की उपाधियाँ प्राप्त् की है, भारतीय अमेरिकी शोधकर्ता के रूप में मशहूर है, हिन्दी के प्रखर पुरस्कर्ता: संस्कृत, हिन्दी, मराठी, गुजराती के अभ्यासी, अनेक संस्थाओं से जुडे हुए। अंतर्राष्ट्रीय हिंदी समिति (अमरिका) आजीवन सदस्य हैं; वर्तमान में अमेरिका की प्रतिष्ठित संस्‍था UNIVERSITY OF MASSACHUSETTS (युनिवर्सीटी ऑफ मॅसाच्युसेटस, निर्माण अभियांत्रिकी), में प्रोफेसर हैं।

आरक्षण का अनचाहा पहलू: एक विचार-प्रवर्तक टिप्पणी

डॉ. मधुसूदन (एक) सारांश: अपनी टिप्पणी में, पिछडे समाज का,एक टिप्पणीकार अपना अनुभव बताता है; ==> ***आरक्षण के कारण समाजपर...

प्रवासी भारतीयों, ठोकरों के लिए तैयार रहो!

डॉ. मधुसूदन *अभ्यागत मित्रों से वार्तालाप: अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी समिति (अमरिका) का द्वि-वार्षिक सम्मेलन, वॉशिंग्टन डी. सी. निकट हर्न्डन वर्जिनिया में...

18 queries in 0.408