More
    Homeप्रवक्ता न्यूज़कालों का राज है भाई

    कालों का राज है भाई

    अरेरेरेररेरेरेरेरेरेरे … रूको भाई मैं कोई रंगभेदी नही हूँ .. केवल पत्रकार भी नही हूँ … मैं तो एक अमीर देश की गरीब जनता के बीच का आदमी हूँ जो काले गोरे आदमीयों तक का भेद तो समझ नही सका है फिर भला काले सफेद धन के बारे में क्या समझता । लेकिन अब समझना चाहता हूँ क्योंकि मुझे अब बच्चों के स्कूल फिस पटाने में समस्या आने लगी है, सब्जी खरीदने की जगह केवल चाँवल पकाकर उसे नमक अचार डाल कर खा रहा हूँ, पेट्रोल ना भर पाने के कारण अब साइकिलिंग कर रहा हूँ , बिजली बिल ना पटा पाने के कारण अवैध रूप से बिजली खींच कर घर को रोशन कर रहा हूँ, …. मैं एक गोरा आदमी हूँ और बडी मुश्किल से अपना जीवन गुजार रहा हूँ ….
    लेकिन गुस्से से मेरा मन भर जाता है
    जब उस काले को देखता हूँ जिसके कुत्ते
    डॉग ट्रेनर के घर कार से जाकर ट्रेंड हो रहे हैं, जिसका

    डब्बू मिश्राhttps://www.dabbumishrablogspot.com
    इस्पात की धडकन का संपादक, सरकुलर मार्केट भिलाई का अध्यक्ष और अंर्तराष्ट्रीय ब्राह्मण का छत्तीसगढ राज्य प्रदेश सचिव । जनाधार बढाने का अटूट प्रयास ताकि कोई तो अपनो सा मिल जाये ताकि एक संघर्ष शुरू किया जा सके ।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Must Read

    spot_img